NEW DELHI: नाबालिग का धर्म परिवर्तन करवाकर जबरन कराया जा रहा था निकाह, महिला आयोग ने छापेमारी कर बच्ची को बचाया

NEW DELHI: नाबालिग का धर्म परिवर्तन करवाकर जबरन कराया जा रहा था निकाह, महिला आयोग ने छापेमारी कर बच्ची को बचाया

देश की राजधानी दिल्ली से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. उत्तरी दिल्ली में नाबालिग का जबरन निकाह कराया जा रहा था. इस मामले में चौंकाने वाली बात यह है कि वह बच्ची हिंदू है. उसका धर्म परिवर्तन कराकर जबरन निकाह पढ़ाया जा रहा था. इस मामले की सूचना दिल्ली महिला आयोग को मिली तो उन्होनें त्वरित कार्रवाई करते हुए छापा मारा और निकाह रुकवाया.

मामले को लेकर स्थानीय लोगों ने बताया कि लड़की पहले अपने नाना-नानी के साथ यहां रहती थी लेकिन 5 साल पहले नाना नानी की मौत हो गई और उसके बाद उसे पड़ोसियों ने ही पाला है. लड़की के पिता का भी देहांत हो चुका है और उसकी मां भी यहां नहीं रहती है. लड़की की मां किसी के घर में काम करती है और वहीं रहती है तथा लड़की की शादी से उसकी मां को भी कोई आपत्ति नहीं थी.

महिला आयोग की टीम स्थानीय पुलिस के साथ लड़की के घर पहुंची और निकाह को रुकवाया. आयोग ने लड़की से बात की तो लड़की ने कबूल किया की उसकी उम्र 15 साल है. लड़की की मां ने भी बताया कि बच्ची का जन्म साल 2005 में हुआ था. टीम ने तुरन्त बच्ची का निकाह रुकवाते हुए उसे वहां से बाहर निकाला और उसकी काउंसलिंग कर उसे कानून के बारे में बताया. पुलिस ने बाकी लोगों से पूछताछ की और लड़के के परिवारवालों को भी पूछताछ के लिए बुलाया है. इसके अलावा महिला आयोग अब बच्ची के पुनर्वास पर भी काम करेगा

इस असंवैधानिक विवाह पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, ‘दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में 15 साल की बच्ची का निकाह करवाया जा रहा था. जैसे ही हमें पता चला तो टीम के साथ हम मौके पर पहुंचे और दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर हमने वह निकाह रुकवा दिया है. मुझे दुख होता है कि देश की राजधानी तक में बच्चों के बाल विवाह करवाए जा रहे हैं. बहुत ज्यादा शर्म की बात है. ऐसे लोग जो बच्चों का बचपन छीन लेते हैं उनको कड़ी से कड़ी सजा होनी चाहिए. दिल्ली पुलिस से अनुरोध है कि उनको सख्त सजा दिलाए, और साथ में जो लड़की है उसके पुनर्वास पर दिल्ली महिला आयोग काम करेगा’. 

Find Us on Facebook

Trending News