100 करोड़ की लागत से बोकारो में बनेगा नया एलपीजी बोटलिंग प्लांट, पेट्रोलियम मंत्री ने किया शिलान्यास

100 करोड़ की लागत से बोकारो में बनेगा नया एलपीजी बोटलिंग प्लांट, पेट्रोलियम मंत्री ने किया शिलान्यास

BOKARO : बोकारो के चास प्रखंड स्थित राधानगर और चैनपुर पंचायत क्षेत्र में भारत पेट्रोलियम कॉपोर्रेशन लिमिटेड कंपनी के डिपो निर्माण का आज शिलान्यास किया गया. शिलान्यास केन्द्रीय पेट्रोलियम सह इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने किया. उनके साथ झारखण्ड के सीएम रघुवर दास, सांसद पीएन सिंह और राजस्व, निबंधन, भूमि सुधार, पर्यटन कला संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के मंत्री अमर कुमार बाउरी, विधायक विरंची नारायण आदि ने मंच साझा किया.

इस मौके पेट्रोलियम सह इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि बोकारो का विकास उनकी प्राथमिकता सूची में है. बोकारो को टाटा के समकक्ष बनाया जायेगा. उन्होंने कहा कि झारखंड में पेट्रालियम पदार्थों की बिक्री का ग्रोथ 15 फीसदी है, जिसमें पेट्रोल की भूमिका 61 फीसदी है. यह दूसरे राज्यों के लिए भी उदाहरण है. इस दिशा में पेट्रोलियम कंपनियों का प्रयास सराहनीय है.

साथ ही उन्होंने कहा लगभग 100 करोड़ की लागत से बनने वाले एलपीजी बोटलिंग प्लांट से नये रोजगार के अवसर पैदा होंगे. आगामी योजनाओं के बारे में प्रधान ने कहा कि गेल के जरिये घर-घर पाइपलाइन के जरिये गैस पहुंचाने की योजना भी प्रगति पर है. यह योजना 10 हजार करोड़ की है.

मुख्यमंत्री ने गिनाई राज्य की उपलब्धियां

इस मौके पर सीएम रघुवर दास ने कहा कि केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का पूरे झारखंड की जनता की ओर से आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा की बोकारो में 47 प्रोजेक्ट में 4303 करोड़ का निवेश हो रहा है. जिससे 20 हजार लोगों को रोजगार मिल सकेगा. 2014 के बाद पिछले साढ़े चार साल में राज्य में तेल की खपत में 15 फीसदी बढ़ने से राज्य में संभावनाएं बढ़ी हैं. 

उन्होंने कहा की राज्य में डबल इंजन की सरकार से झारखंड को काफी लाभ हुआ है. पेट्रोलियम मंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा की उन्होंने चूल्हे पर खाना बनाने वालों का दर्द समझा है. इसी वजह से पूरे देश में करोड़ों महिलाओं को नि:शुल्क एलपीजी गैस सिलेंडर देने का अभियान शुरू किया. रक्षा बंधन के मौके पर 42 लाख बहनों को दूसरा सिलिंडर देने का काम राज्य सरकार करेगी. उन्होंने कहा की महिला शक्ति को आर्थिक रूप से सशक्तिकरण करने का भी लक्ष्य है. सखी महिला मंडलों की महिलाओं के जरिये 500 करोड़ रुपये से रेडी टू इट बनाने का लक्ष्य है.

बोकारो से मृत्युंजय की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News