जाम से पूरी तरह मुक्त हुआ NH-19, एक साथ 62 करोड़ का बालू भी किया जब्त

 जाम से पूरी तरह मुक्त हुआ NH-19, एक साथ 62 करोड़ का बालू भी किया जब्त

CHHAPRA : छपरा-पटना नेशनल हाइवे-19 पर पहली बार ऐतिहासिक कार्रवाई की गई है। यहां प्रशासन ने एनएच पर लगे 500 ट्रकों को जब्त किया है, बल्कि इन ट्रकों और बालू से करीब 62 करोड़ की वसूली की है। वहीं 500 ट्रकों को खलपुरा समेत आस-पास के निर्धारित जगहों पर रखा गया है। अलग से जब्त ट्रकों को रखने के लिए स्थान चिन्हित कर दिया गया है। 

इन गाड़ियों के खिलाफ हुए कार्रवाई का नतीजा यह रहा कि अब एनएच-19 पूरी तरह से ट्रैफिक फ्री हो गया है। दो दिन पहले तक जिस हाइवे पर सैकड़ों की संख्या में ट्रकों की लंबी कतार लगी थी,वहां आज सन्नाटे है। छोटी वाहनें व बाइक वाले फर्राटे भर रहे है। डीएम ने भारी वाहनों का परिचालन रोक दिया है। कई जगहों पर बैरियर लगा कर रोका गया है। पुलिस बल को तैनात किया गया है।


12 साल से चल रहे एनएच निर्माण में आएगी तेजी

बालू लदे ट्रकों पर किए गए कार्रवाई का एक फायदा यहां एनएच पर पिछले 12 साल से निर्माण कार्य पर भी पड़ेगा। वर्ष 2010 में हाजीपुर से छपरा-मेथवलिया एनएच 19 को फोरलेन बनाने का काम शुरू हुआ था। शुरू के वर्षों में निर्माण कार्य तेजी से हुआ भी लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया काम की रफ्तार धीमी पड़ती गई। निर्माण कार्य करा रहे मधुकॉन कंपनी का दावा है कि फोरलेन का काम 70-80 फीसदी पूरा हो चुका है। व्यवधान नहीं आया तो जून तक पूरा होगा।


 छपरा-पटना एनएच के किनारे 60 करोड़ का बालू डंप पड़ा है। जिसमें 21 करोड़ का जब्त किया गया बालू को टेंडर निकाला जा रहा है। 22 फरवरी को टेंडर खुलेगा। जिला माइनिंग अफसर के द्वारा 22.97 करोड़ की फाइन वसूल किया गया है। डीटीओ द्वारा 16.32 करोड़ फाइन वसूला है। कुल 39 करोड़ रुपये राजस्व वसूल की गई है। रोड ट्रांसपोर्ट ऑथोरिटी द्वारा 93 लाख रुपये वसूला गया है। अब तक कुल 62 करोड़ रुपये वसूल किया गया है। यहां बता दें कि अभी एनएच किनारे कुल 17 जगहों पर बालू डंप किया गया है। जिसका टेंडर कर बिक्री कर देनी है। वर्ष 2010 में हाजीपुर से छपरा-मेथवलिया एनएच 19 को फोरलेन बनाने का काम शुरू हुआ था। शुरू के वर्षों में निर्माण कार्य तेजी से हुआ भी लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया काम की रफ्तार धीमी पड़ती गई। निर्माण कार्य करा रहे मधुकॉन कंपनी का दावा है कि फोरलेन का काम 70-80 फीसदी पूरा हो चुका है। व्यवधान नहीं आया तो जून तक पूरा होगा।


 दरियापुर मोड़ के पास शीतलपुर बाजार की तरफ बैरियर लगा दी गई है। भारी वाहनों को इंट्री नहीं करने दिया जा रहा है। वहां पर पुलिस बल और पुलिस अफसर को तैनात कर दिया गया है। वहां एक दिन पहले ट्रक चालकों ने मिलकर पुलिस के साथ झड़प कर दिया था। गड़खा-सोनहो-परसा-दरियापुर होकर भारी वाहनें जायेगी। पहले भारी वाहनें यानि बालू लदे ट्रकों का परिचालन छपरा-पटना मुख्य मार्ग से होता था। एनएचएआई ने डीएम को लिखित दिया है कि आपके द्वारा निरीक्षण कर अवरोधों को दूर किया गया है।
 
 

Find Us on Facebook

Trending News