निखिल आनंद ने गुजरात के मंत्री हर्ष सांघवी से की मुलाकात, कहा- विकास के लिए सभी राज्यों को गुजरात मॉडल अपनाना चाहिए

निखिल आनंद ने गुजरात के मंत्री हर्ष सांघवी से की मुलाकात, कहा- विकास के लिए सभी राज्यों को गुजरात मॉडल अपनाना चाहिए

पटना. भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री सह बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने गुजरात के गृह मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हर्ष सांघवी से मुलाकात की. इस दौरान निखिल आनंद ने कहा कि पीएम मोदी द्वारा स्थापित सुशासन और विकास के गुजरात मॉडल से देश के सभी राज्यों को सीखने की जरूरत है. साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा में युवाओं को आगे बढ़ने का मौका सबसे ज्यादा दिया जाता है. वहीं उन्होंने गुजरात में शराबबंदी की भी तारीफ की. 

निखिल आनंद ने गुजरात के गृह मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और नशाबंधी एवं एक्साइज मंत्री हर्ष सांघवी के साथ गांधीनगर स्थित उनके आवास पर आधे घंटे की अनौपचारिक मुलाकात की. इस दौरान उनके राजनीतिक एवं प्रशासनिक अनुभवों को साझा किया. निखिल आनंद ने हर्ष सांघवी का अंगवस्त्र पहनाकर सम्मान करते हुए कहा कि एक युवा विधायक के कंधों पर गुजरात सरकार ने गृह विभाग की बड़ी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी है, जो भाजपा जैसी पार्टी के शासन वाले राज्यों में ही संभव है.

निखिल आनंद ने कहा कि गुजरात को भारत का सबसे बेहतरीन शासित राज्य बताते हुए निखिल आनंद ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा स्थापित सुशासन और विकास के गुजरात मॉडल से पूरे देश के सभी राज्यों को सीखने की जरूरत है. आज गुजरात में अपराध मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त और चहुंमुखी सतत विकास की बयार बह रही है, जिसकी जितनी प्रशंसा की जाय वह कम होगा.

उन्होंने कहा कि नशाबंदी कानून गुजरात में बिना शोर-शराबा के बहुत ही बेहतरीन तरीके से लागू है, लेकिन बिहार में इस शराबबंदी कानून पर शुरू से लेकर अबतक आरोप-प्रत्यारोप और हंगामे का दौर लगातार चलता रहता है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है. बिहार में कुछ घटनाओं के कारण भी शराबबंदी की भावना को ठेंस पहुंची है. इसपर विपक्षी दलों का रवैया वाकई गैर जिम्मेदारी भरा रहा है.

निखिल आनंद ने कहा कि नए राजनीतिक युवा गुजरात के गृहमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हर्ष सांघवी की ईमानदारी, कर्मठता, सरलता, सहजता और सादगी भरे व्यक्तित्व से सीख सकते है. हर्ष सांघवी संभवतः देश के किसी भी राज्य के सबसे कम उम्र के गृहमंत्री हैं. निखिल ने हर्ष सांघवी को बिहार आने का न्यौता देते हुए कहा कि इस राज्य में सामाजिक-राजनीतिक व्यवस्था परिवर्तन का दौर लगातार जारी है. ऐसे में वे यहां आकर युवाओं को भी प्रेरित कर सकते हैं.


Find Us on Facebook

Trending News