CM का नाम भूल गए नीतिन गडकरी, तार किशोर को बता दिया मुख्यमंत्री, राजद ने कहा - अब स्थिति बिल्कुल स्पष्ट, फैसला लें नीतीश जी

CM का नाम भूल गए नीतिन गडकरी, तार किशोर को बता दिया मुख्यमंत्री, राजद ने कहा - अब स्थिति बिल्कुल स्पष्ट, फैसला लें नीतीश जी

PATNA : बिहार में भाजपा और जदयू के बीच रिश्ते में नए बने कोईलवर पुल ने दूरियों को कम करने की जगह और बढ़ा दी है। दो दिन पहले पुल के उद्घाटन के लिए पोस्टर पर सीएम की तस्वीर गायब होने से उपजा विवाद अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि कल केंद्रीय पथ निर्माण मंत्री नितिन गडकरी ने अपने संबोधन में ऐसी बात कह दी, जिसके बाद दोनों पार्टियों के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गए। पुल के उद्घाटन के दौरान अपने वर्चुअली संबोधन में गडकरी बिहार के मुख्यमंत्री का नाम ही गलत बोल गए। उन्होंने नीतीश कुमार की जगह बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर तार किशोर प्रसाद का नाम ले लिया। जिसके बाद अब राजद हमलावर हो गई है।

सब कुछ हो गया स्पष्ट

जिस तरह से केंद्रीय मंत्री ने बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर नीतीश कुमार की जगह तार किशोर प्रसाद का नाम लिया, उसके बाद मुख्य विपक्षी राजद ने हमला शुरू कर दिया है। पार्टी प्रवक्ता मृत्यूंजय तिवारी ने कहा कि अब सबकुछ स्पष्ट हो चुका है कि भाजपा नीतीश कुमार को अपना मुख्यमंत्री नहीं मानती है। यही कारण है कि पहले पोस्टरों से उनकी तस्वीर हटाई गई, बाद में विवाद बढ़ा तो दूसरा पोस्टर लगाया गया, उसमें अनमने मन से सीएम की तस्वीर लगाई गई। हद तो तब हो गई जब केंद्रीय मंत्री ही नीतीश कुमार का नाम भूल गए। यह सब बताता है कि दोनों पार्टियों के बीच का रिश्ता अब पूरी तरह से टूट चूका है। सिर्फ दिखावा किया जा रहा है।

अब मुख्यमंत्री को फैसला लेना चाहिए

राजद प्रवक्ता मृत्यूंजय तिवारी ने कहा कि पिछले दिनों पुल के उदघाटन को लेकर जिस तरह से बिहार के मुख्यमंत्री को दरकिनार किया गया। उसके बाद अब समय आ गया है कि उन्हें फैसला लेना होगा कि भाजपा के साथ रिश्ता तोड़ते हैं या नहीं। उन्होंने कहा कि 17 साल से बिहार के मुख्यमंत्री है नीतीश कुमार, लेकिन केंद्रीय मंत्री को उनका नाम याद नहीं है। यह छोटी बात नहीं है। इसके लिए अब बीजेपी कोई भी बहाना करे, लेकिन उसे मानना सही नहीं होगा

Find Us on Facebook

Trending News