मुजफ्फरपुर और रक्सौल से हवाई सेवा शुरू करने पर नीतीश सरकार ने नहीं भेजा कोई प्रस्ताव, भूमि आवंटन भी लंबित

मुजफ्फरपुर और रक्सौल से हवाई सेवा शुरू करने पर नीतीश सरकार ने नहीं भेजा कोई प्रस्ताव, भूमि आवंटन भी लंबित

पटना. बिहार में मुजफ्फरपुर और रक्सौल से हवाई सेवा शुरू करने को लेकर फ़िलहाल बिहार सरकार की ओर से कोई पहल नहीं की गई है. केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने संसद में यह जानकारी दी. उन्होंने सांसद अजय निषाद के एक प्रश्न पर लिखित जवाब में कहा कि अब तक बिहार की नीतीश सरकार की ओर से इन दोनों हवाईअड्डे के लिए भूमि आवंटन की प्रक्रिया की भी पहल नहीं की गई है. साथ ही ना तो दोनों जगहों से उडान सेवा के तहत हवाई सेव शुरू करने का कोई प्रस्ताव आया है. 

दरअसल, मुजफ्फरपुर और रक्सौल हवाई पट्टी बिहार राज्य में भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के स्वामित्व वाले गैर परिचालन हवाई अड्डे हैं। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा मुजफ्फरपुर हवाई अड्डे के विकास हेतु बिहार सरकार से सभी ऋण भारों से मुक्त 475 एकड़ भूमि की मांग की गई जो कि अभी तक लंबित है।

 नागर विमानन मंत्रालय द्वारा शुरू की गई क्षेत्रीय संपर्क योजना यानी उड़ान के अंतर्गत मुजफ्फरपुर और रक्सौल हवाई पट्टी असेवित हवाई अड्डों की सूची में शामिल है। चूकि उड़ान एक मांग संचालित योजना है और एयरलाइनों का चयन एक पारदर्शी प्रक्रिया के माध्यम से किया जाता है जिसमें एयरलाइन ऑपरेटर समय-समय पर योजना के तहत किसी विशेष मार्ग पर संचालन की व्यवहार्यता का आकलन करके बोली लगाते हैं। वैध बोली और अवार्ड के माध्यम से चयनित एयरलाइन द्वारा असेवित एवं सेवा वाले हवाई अड्डा का उन्नयन या  पुनरुद्धार किया जाता है। इसे पूर्ण रूप से उड़ान योजना के अंतर्गत किया जाता है।

नागर विमानन मंत्रालय ने कहा है कि अभी तक किसी बोलीदाता ने इन दोनों हवाई पट्टियों से उड़ान संचालित करने का प्रस्ताव प्रस्तुत नहीं किया है। इसके इलावा बिहार सरकार ने भी उड़ान योजना के तहत बोली 4.1और 4.2 के विशेष दौर में मुजफ्फरपुर और रक्सौल से जुड़ने वाले किसी भी मार्ग का प्रस्ताव नागर विमानन मंत्रालय को नहीं दिया है। ऐसे में यदि कोई एयरलाइन भविष्य में मुजफ्फरपुर एवं रक्सौल से जुड़ने वाले मार्गों के लिए प्रस्तुत करती है तो उस पर उड़ान योजना के प्रावधानों के अनुसार विचार किया जाएगा


Find Us on Facebook

Trending News