नीतीश सरकार को 'कैबिनेट' मीटिंग की गोपनीयता भंग होने का संदेह! 'मंत्रियों-सचिवों' को चार प्वाइंट्स पर ध्यान देने को कहा गया

नीतीश सरकार को 'कैबिनेट' मीटिंग की गोपनीयता भंग होने का संदेह! 'मंत्रियों-सचिवों' को चार प्वाइंट्स पर ध्यान देने को कहा गया

PATNA: बिहार में कोरोना का संक्रमण बढ़ते जा रहा है। अब एक बार फिर से कैबिनेट की बैठक वीसी के माध्यम से होगी। मंत्रिपरिषद की बैठक को गोपनीय रखने के लिए नीतीश सरकार ने मंत्रियों एवं अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं. मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग ने सभी मंत्री के आप्त सचिव एवं सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव-प्रधान सचिव एवं सचिव को पत्र लिखकर कैबिनेट की बैठक को पूरी तरह से गोपनीय रखने को कहा है।

कैबिनेट की बैठक पूरी तरह से रखें गोपनीय

पत्र में कहा गया है कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर कैबिनेट की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संभावित है. ऐसे में मंत्रिपरिषद की बैठक की गोपनीयता बनी रहनी चाहिए. कैबिनेट की बैठक को गोपनीय रखने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कक्ष में मंत्री के अलावे संबंधित विभाग के अपर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव या सचिव के अतिरिक्त किसी अन्य व्यक्ति का प्रवेश निषिद्ध होगा। मंत्रिपरिषद की बैठक के दौरान कक्ष में किसी भी प्रकार की वीडियोग्राफी या फोटोग्राफी पूर्णता प्रतिबंधित रगी। मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग से भेजी गई सामग्री को पूर्णतः गोपनीय रखते हुए कार्यसूची या अन्य सामग्रियों की फोटोकॉपी पूर्णता प्रतिबंधित रखी जाए.मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद कार्यसूची मुहर बंद कर मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग को वापस किया जाए.

बता दें, 5 जनवरी को कैबिनेट की बैठक हुई थी। हालांकि कैबिनेट मीटिंग से पूर्व दोनों डिप्टी सीएम समेत कई मंत्री पॉजिटिव निकले थे। इसके बाद अधिकांश मंत्री 5 तारीख की कैबिनेट मीटिंग में ऑनलाइन ही जुड़े थे। अब सरकार से साफ कर दिया है कि वीसी के माध्यम से ही कैबिनेट की बैठक संभावित है। ऐसे में मंत्रिपरिषद की बैठक पूरी तरह से गोपनीय रहनी चाहिए.

Find Us on Facebook

Trending News