नीतीश जी के पास 'न वोट है न भाट'...'न जमीन बची है और न जमीर', RJD बेइज्जत करे इसके पहले CM आश्रम को कर जाएं प्रस्थान-BJP

नीतीश जी के पास 'न वोट है न भाट'...'न जमीन बची है और न जमीर', RJD बेइज्जत करे इसके पहले CM आश्रम को कर जाएं प्रस्थान-BJP

PATNA: बिहार में विधानसभा की दो सीटों पर हुए उप चुनाव में बीजेपी और राजद अपनी सीटिंग सीटें बचाने में कामयाब हो गईं। नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू का राजद के साथ जाने के बाद भी तेजस्वी यादव गोपालगंज की सीट भाजपा से छीनने में नाकामयाब रहे. बीजेपी अपने दम पर गोपालगंज सीट पर विजय पताखा फहराने में कामयाब रही। मोकामा सीट पर जेडीयू का साथ मिलने के बाद भी अनंत सिंह की पत्नी को बहुत लाभ नहीं मिला. हालांकि राजद कैंडिडेट नीलम देवी चुनाव जीतने में कामयाब रहीं. बीजेपी ने भी 63 हजार वोट लाकर कड़ी शिकस्त दी। उप चुनाव में जेडीयू का साथ मिलने के बाद भी राजद को एकतरफा लाभ नहीं मिलने का ठीकरा नीतीश कुमार की पार्टी पर फोड़ा जा रहा. बताया जा रहा कि नीतीश कुमार के पास अब कोई वोट बैंक नहीं रहा. अतिपिछड़ा वोट जिसपर नीतीश कुमार अपना एकाधिकार समझते थे, उसमें भी बिखराव हुआ है. इसके बाद बीजेपी ने नीतीश कुमार पर जमकर प्रहार किया है। बिहार बीजेपी ने कहा है कि अब नीतीश कुमार के पास न वोट है न भाट,न जमीन है और न जमीर. ऐसे में उन्हें समय की नजाकत को समझते हुए और सम्मान बचाते हुए आश्रम की तरफ प्रस्थान कर देना चाहिए।

राजद बेइज्जत करे इसके पहले आश्रम की तरफ कर जाएं प्रस्थान-बीजेपी 

बिहार बीजेपी के प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बड़ा प्रहार किया है। यूं कहें कि जेडीयू नेतृत्व को चिढ़ाया है और कहा है कि उप चुनाव रिजल्ट के बाद साबित हो गया कि नीतीश कुमार के पास कोई वोट बैंक नहीं. राजद को भी इस बात का अहसास हो गया है. जिस वोट बैंक पर नीतीश कुमार इतराते थे वह भी टूट गया. बीजेपी प्रवक्ता ने तंज कसते हुए कहा कि बिहार के उपचुनाव परिणाम के बाद अब नीतीश कुमार के पास न वोट, न भाट..न जमीन, न जमीर. कुछ भी नहीं बचा है। राजनीति में वक्त की नजाकत को समझते हुए नीतीश जी को अपना सम्मान बचाना चाहिए। राजद बेइज्जत करके आश्रम भेजे, उससे पहले नीतीश जी को जल्द- से-जल्द खुद आश्रम चले जाना चाहिए।

शिवानंद तिवारी ने सबसे पहले नीतीश कुमार को आश्रम जाने की दी थी सलाह 

बता दें, सितंबर 2022 में राष्ट्रीय जनता दल के राज्य परिषद की बैठक में लालू-तेजस्वी की मौजूदगी में वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने भरी सभा में कहा था कि सीएम नीतीश कुमार को सत्ता तेजस्वी यादव को सौंप देनी चाहिए। इसके बाद उन्हें आश्रम खोल वहां राजनीतिक प्रशिक्षण देने की सलाह भी दे दी. इसके बाद बिहार की राजनीति गरम हो गई थी. तभी से बीजेपी बार-बार नीतीश को आश्रम जाने की सलाह देती है.


Find Us on Facebook

Trending News