दिल में ‘गांठ’ लेकर दिल्ली से लौटे नीतीश ने कहा ‘ये मोदी का जमाना है अटल का नहीं’

दिल में ‘गांठ’ लेकर दिल्ली से लौटे नीतीश ने कहा ‘ये मोदी का जमाना है अटल का नहीं’

PATNA: कल तक इकरार कर रहे थे लेकिन शाम होते-होते इंकार कर दिया। मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए बेकरार थे लेकिन बीजेपी नेतृत्व की मंशा ने  नीतीश की योजना पर पानी फेर दिया। जो चाहत थी वो नहीं मिली तो कह दिया कि सांकेतिक भागीदारी नहीं बल्कि संख्या बल के आधार पर सरकार में जगह दीजिएगा तो ठीक नहीं तो बाहर से समर्थन देते रहेंगे।

मतलब साफ है कि गठबंधन में बने रहने के एलान के बावजूद मंत्रिमंडल में उचित जगह नहीं मिल पाने की वजह से नीतीश के मन में गांठ पड गया है। यह गांठ आने वाले दिनों में खासकर बिहार में एनडीए के सेहत पर क्या असर दिखायेगा यह तो वक्त की बात है लेकिन इतना तय हो चुका है कि वर्तमान परिस्थिति में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं है।

पटना एयरपोर्ट पर नीतीश ने जिस तरह अपने बयान से घमासान की शुरूआत की है उससे तो यही लगता है कि नीतीश कुमार अंदर-अंदर भाजपा नेतृत्व के बर्ताव से नाराज हैं। उन्होंने पटना आते हीं कह दिया कि अब अटल जी का जमाना नहीं बल्कि मोदी का जमाना है। नीतीश कुमार ने दिल के दर्द को सार्वजनिक करते हुए कहा कि अटल जी के जमाना में मंत्री बनने के नाम तय होते हीं विभाग का बंटवारा कर दिया जाता था। तब बीजेपी को पूर्ण बहुमत नहीं थी,लेकिन अब वह जमाना नहीं रहा। अब बीजेपी पूर्ण बहुमत में है और अब मोदी का जमाना आ गया है।

मंत्रीपद के लिए अब नहीं होगी कोई बातचीत

नीतीश कुमार ने तो यहां तक कह दिया कि अब वे मंत्रिमंडल में जगह के लिए बीजेपी से कोई बात नहीं करेंगे।सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में जो जीत मिली है वह किसी पार्टी की जीत नहीं बल्कि बिहार की जनता की जीत है।


Find Us on Facebook

Trending News