CM नीतीश के काम से खुश नहीं है जीतनराम मांझी, जल्द ही मुख्यमंत्री से करेंगे मुलाकात

CM नीतीश के काम से खुश नहीं है जीतनराम मांझी, जल्द ही मुख्यमंत्री से करेंगे मुलाकात

PATNA : हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (से०) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी  की अध्यक्षता में प्रदेश अध्यक्ष बीएल बैश्यन्त्री के द्वारा आज वर्चुअल मीटिंग आहूत की गई थी। वर्चुअल मीटिंग का संचालन पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश पांडेय ने की। पार्टी के मीडिया प्रभारी सह प्रदेश प्रवक्ता अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी ने बताया कि  पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की अध्यक्षता में बुलाई गई है वर्चुअल मीटिंग लगभग 3 घंटे से अधिक चली। वर्चुअल मीटिंग में कोरोना महामारी एवं उससे उत्पन्न समस्याओं को लेकर यह मीटिंग बुलाई गई थी। वर्चुअल मीटिंग में पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव बिहार सरकार में मंत्री डॉ संतोष कुमार सुमन, राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ दानिश रिजवान, पार्टी के विधायक, पार्टी वरिष्ठ पदाधिकारियों, जिला अध्यक्षों एवं विभिन्न प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष मीटिंग में शामिल हुए।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएल बैश्यन्त्री ने वर्चुअल मीटिंग के प्रारंभ में विषय प्रवेश कराते हुए बताया कि आज की मीटिंग कोरोना महामारी, तेज तूफान, भारी वर्षा हुई तबाही को लेकर बुलाई गई। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी दलित और गरीबों की पार्टी है। कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा इन्हीं वर्ग को परेशानी उठानी पड़ रही है और उन तक मदद सही ढंग से पहुंच रहा है कि नहीं इसकी मॉनिटरिंग हमारी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता करें और जो भी समस्याएं आ रही है उसे हमारे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी जनहित में से जुड़ी सारे मुद्दों की जानकारी आप उन्हें दें।

अमरेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि हमारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने लगभग प्रदेश के सभी जिला अध्यक्षों के साथ एवं प्रकोष्ठ अध्यक्षों के साथ उनकी बातें हुई। जिसमें पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने भी अपने अपने विचारों को रखा। सभी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी को बताया कि (1)प्रदेश में लगभग अधिकांश उप स्वास्थ्य केंद्रों पर स्वास्थ्य व्यवस्था में बहुत कमी है वहां पर डॉक्टर, एनएम की व्यवस्था का बहुत बड़ा अभाव है जिसे दूर करने की आवश्यकता है। (2) सामूहिक किचन का भी प्रत्येक जिले में जो व्यवस्था है उससे लोगों को लाभ नहीं पहुंच रहा। उसका कारण है की सामूहिक किचन इतना दूर हैं कि गरीब परिवार के लोग वहां तक पहुंचने में सक्षम नहीं है। जिसके कारण भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। सामूहिक किचन की संख्या बढ़ाई जाए और उसकी दूरी ना हो । दलित वस्ती के नजदीक हो, जहां लोग जाकर आसानी से भोजन कर सके। विशेष निगरानी में सामूहिक किचन की व्यवस्था की जाए। ताकि लोगों को गुणवत्तापूर्ण भोजन पूरे प्रदेश में दलित और गरीब परिवारों को मिल सके।(3) दलित बस्तियों में सैनिटाइजेशन, डॉक्टरी जांच और सफाई की व्यवस्था कराने की बात दोहराई गई । ताकि वहा कोरोना महामारी को बढ़ने से रोका जा सके। (4) सभी जिलों से यह शिकायत मिली कि राशन दुकान पर गरीब दलित परिवार के लोगों को खराब राशन दिया जा रहा है और राशन जो दिया जा रहा है उसमें भी 5 किलो से कम राशन दी जा रही है। बहुत जगह पर जो कंट्रोल से सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। उसकी गुणवत्ता बहुत ही खराब है। इसके लिए भी ठोस कदम उठाने की जरूरत है ताकि गरीब और दलित परिवार के लोगों को गुणवत्तापूर्ण अनाज जितना उन्हें मिलना चाहिए उन्हें मिले। यह भी शिकायत मिली कि बहुत सारे लोगों का राशन कार्ड अभी तक नहीं मिल पाया है। जिसके कारण गरीब और दलित परिवार को सरकारी योजना के तहत उन्हें राशन नहीं मिल पा रहा। (5) बाहर से आए मजदूरों के लिए रोजगार की व्यवस्था जो की जा रही है वह कागजी है लोगों को रोजगार मुहैया नहीं हो पा रहा है। इसके कारण आज बेरोजगार लोग भुखमरी के शिकार हो रहे हैं। जिसमें ज्यादातर लोग दलित और गरीब परिवार के हैं। इसलिए उन्हें रोजगार की व्यवस्था सरकारी स्तर पर जल्द से जल्द की जाए या कमोबेश हर जिले की बात है।

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने वर्चुअल मीटिंग के द्वारा आए हुए सभी सुझावों को गंभीरता से सुना और कहा कि हम जल्द ही सभी बिंदुओं पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलेंगे और जल्द से जल्द सारी समस्याओं को दूर कराने का काम करेंगे । आज की वर्चुअल मीटिंग में पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव बिहार सरकार में मंत्री डॉ संतोष कुमार सुमन, राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ दानिश रिजवान, पूर्व मंत्री डॉ अनिल कुमार, विधायक ज्योति मांझी, विधायक प्रफुल्ल मांझी, कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष प्रफुल्ल चंद्रा, साधना देवी, टूटू खान गया जिला अध्यक्ष, संजय यादव, अरविंद कुमार उर्फ सुनील शर्मा सुनील, अशोक कुमार रजक, आरके दत्ता, राजेंद्र यादव, मो रुस्तम, किशोर कुमार मुन्ना, अश्वनी पांडेय, कमलेश पासवान, अशोक मांझी, मुकेश मांझी, श्री कृष्ण महतो, जितेंद्र झा, मनीष शर्मा, विश्वजीत पासवान, चंद्रभूषण कुशवाहा, हरेंद्र कुमार सिंह, ध्रुव लाल मांझी, रत्नेश पटेल, राम विलास प्रसाद, विजय यादव, अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी, गीता पासवान, शैलेश मिश्रा, द्वारका पासवान, रविंद्र शास्त्री, बलमा बिहारी, अनिल रजक, पंकज राणा, पिंटू रजक, अरविंद पासवान, शरीफुल हक केदारनाथ चौधरी, अजीत कुमार चौधरी, कुंदन कुमार गौरव, आदि नेताओं ने भी अपने अपने विचार रखे । यह जानकारी पार्टी के मीडिया प्रभारी सब प्रदेश प्रवक्ता अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी ने दी ।

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News