बिहार के स्कूली छात्रों को नीतीश कुमार का बड़ा तोहफा, अब सिर्फ पांच दिन की पढ़ाई, शनिवार को नो-बैग डे

बिहार के स्कूली छात्रों को नीतीश कुमार का बड़ा तोहफा, अब सिर्फ पांच दिन की पढ़ाई, शनिवार को नो-बैग डे

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के लाखों स्कूली छात्रों को बड़ा तोहफा दिया है. अब राज्य के स्कूलों में सिर्फ पांच दिनों की पढाई होगी. यानी सोमवार से शुक्रवार के बीच ही सरकारी स्कूलों में बच्चों को पढ़ना होगा. वहीं शनिवार के दिन बच्चों को स्कूल तो जाना होगा लेकिन उन्हें बिना पढ़ने-लिखने की जरूरत नहीं होगी. स्कूली बच्चे शनिवार को बिना बैग के स्कूल आएंगे. इस दिन बच्चे केवल खेलेंगे. बच्‍चों का स्‍कूल के प्रति जुड़ाव बढ़ाने के मकसद से राज्य सरकार ने इस नए प्रयोग की घोषणा की. 

सीएम नीतीश ने शुक्रवार को शिक्षा दिवस के अवसर पर इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि बच्चों को स्कूल के प्रति आकर्षित करने की दिशा में यह एक बड़ी पहल है. बच्चे पांच दिन पढाई करेंगे वहीं छठे दिन शनिवार को वे खेलकूद जो शारीरिक तौर पर उन्हें मजबूत करेगा. इससे बच्चों में अन्य प्रकार की खेल गतिविधि को बढ़ावा दिया जा सकेगा. 

शिक्षा दिवस के अवसर पर उन्होंने स्वच्छ विद्यालय पोर्टल का भी शुभारंभ किया. उन्होंने कहा कि अब बच्चों को पोशाक एवं किताब के लिए भेजी जाने वाली राशि उनके एकाउंट में भेजी गई. साथ ही विद्यालय निरीक्षण एप का भी शुभारंभ किया गया. सीएम नीतीश ने कहा कि राज्य में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए नए नवाचारों को अपनाया जा रहा है. इसमें तकनीक का बेहतर इस्तेमाल और बच्चों को शिक्षा के लिए जागरूक करना मुख्य पहल है. 


दरअसल, शिक्षा मंत्री रहे मौलाना अबुल कलाम आजाद की जयंती को बिहार में शिक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिन राज्य में शिक्षा विभाग की ओर से मौलाना अबुल कलाम शिक्षा पुरस्कार भी दिया जाता है. हालांकि इस साल किसी को यह पुरस्कार नहीं दिया गया है. 


Find Us on Facebook

Trending News