CM नीतीश का संकल्प, बिहार को विकसित राज्य बनाएंगे, मुख्यमंत्री ने आज 4733 करोड़ की योजनाओं का किया उद्घाटन-कार्यारंभ

CM नीतीश का संकल्प, बिहार को विकसित राज्य बनाएंगे, मुख्यमंत्री ने आज 4733 करोड़ की योजनाओं का  किया उद्घाटन-कार्यारंभ

PATNA : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज एक साथ 4733 करोड़ की योजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास एवं कार्य आरंभ किया. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने जल संसाधन, स्वास्थ्य, पथ परिवहन, पर्यावरण एवं वन विभाग, नगर विकास, सहकारिता एवं पर्यटन विभाग की योजनाओं का शुभारंभ और उद्घाटन किया. वहीँ सीएम नीतीश ने आज यह संकल्प लिया की बिहार को विकसित राज्य बनाएंगे. हमारा  परिवार पूरा बिहार है. 

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि आज कई विभागों की योजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास कराया गया है. राजगीर में घोड़ा कटोरा को विकसित किया गया है, वहां भगवान बुद्ध की सुंदर मूर्ति लगाई गई है. वृक्षारोपण कराने से वहां वृक्षों की संख्या में वृद्धि हुई है. पर्यावरण संरक्षण के दृष्टिकोण से वहां डीजल एवं पेट्रोल वाहनों का जाना वर्जित है. पहले वहां पर्यटक पैदल यात्रा में जाते थे. हम लोगों ने टमटम वालों को ई रिक्शा में विकसित करने का निर्णय लिया. उसी के तहत आज ई-रिक्शा वितरण का कार्य किया गया है. राजगीर में नए रोपवे का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है. उसके बगल में भवन निर्माण का कार्य कराया जा रहा है. वाल्मीकि नगर को भी इको टूरिज्म के रूप में विकसित करने का काम किया जा रहा है. मुख्यमंत्री ने कहा कि 2927 पैक्स को सहायता दी जा रही है. 2005 के पूर्व पैक्सों की क्या स्थिति थी. सबको पता है. हम लोगों ने 2006 में एमपीएमसी एक्ट खत्म किया. मुझे खुशी है कि केंद्र सरकार द्वारा भी यह एक्ट समाप्त किया गया है. इससे किसानों को काफी सुविधा होगी. पैक्स के माध्यम से प्रोक्योरमेंट किया जाता है और अनाजों का भी भंडारण किया जाता है. इससे पैक्स की आमदनी बढ़ी है. वर्ष 2019 में 21 लाख मैट्रिक टन धान की अधिप्राप्ति हुई है. पैक्सों को धान की अधिप्राप्ति के एवज में ₹141 प्रति क्विंटल दिया जाता है. 

पटना मेट्रो का कार्यारंभ

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने पटना मेट्रो रेल परियोजना का कार्य आरंभ किया. इसका शिलान्यास 17 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री ने किया था. पटना मेट्रो रेल का निर्माण कार्य दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के द्वारा किया जा रहा है. 13590 करोड़ की लागत से इसके दोनों खंडों का कार्य 5 वर्ष के अंदर हो जाएगा. अभी मलाही पकरी से बस टर्मिनल तक की शुरुआत की जा रही है. इससे शहर के लोगों को काफी सहूलियत होगी. उन्होंने कहा कि पटना विश्वविद्यालय के परिसर में डॉल्फिन शोध संस्थान का शिलान्यास किया गया है. 5 अक्टूबर 2009 को गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण की बैठक में राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित करने की मांग की थी, जिसे स्वीकार कर लिया गया था. गंगा नदी की स्वच्छता एवं निर्मलता के लिए हम लोग काम कर रहे हैं. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि 21 सितंबर 2020 को 194088 कोरोना सैंपल की जांच की गई. देश के किसी भी प्रांत में 1 दिन में कोरोना संक्रमण की जांच नहीं की गई है. बिहार में अब राष्ट्रीय औसत से ज्यादा जांच हो रही है. इसके साथ ही सीएम नीतीश ने यह भी कहा कि फल्गु नदी में रबड़ डैम बनाने से विष्णुपद मंदिर के पास  सालों भर 2 फीट पानी उपलब्ध रहेगा. इससे श्रद्धालुओं को तर्पण करने में सहूलियत होगी. सीएम नीतीश ने आगे कहा कि वर्ष 2005 से लेकर अब तक पथ निर्माण के क्षेत्र में राज्य निधि से 54461 करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई है. राज्य में स्वास्थ्य के क्षेत्र में काफी बेहतर कार्य किए गए हैं और ऐसी व्यवस्था बनाई गई है कि किसी को भी इलाज के लिए मजबूरी में बिहार से बाहर नहीं जाना पड़े. 

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News