नीतीश का आरोप – भाजपा ने 2020 के बिहार चुनाव में JDU के खिलाफ की थी साजिश, अब 2024 में लेंगे बदला

नीतीश का आरोप – भाजपा ने 2020 के बिहार चुनाव में JDU के खिलाफ की थी साजिश, अब 2024 में लेंगे बदला

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर रविवार को आरोप लगाया कि उसने 2020 के विधानसभा चुनाव में गठबंधन में होने के बावजूद जनता दल-यूनाइटेड (जदयू) के खिलाफ काम किया और कोशिश की कि उसके उम्मीदवारों की हार हो। नीतीश कुमार ने फिर कहा कि भाजपा का विरोध करने वाले दल अगर एक साथ आने पर सहमत हो जाएं, तो वे 2024 के लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत से जीत सकते हैं।

जद(यू) नेता ने अपने पूर्व गठबंधन सहयोगी का नाम लिए बिना कहा, “उन्हें (भाजपा को) याद दिलाना चाहिए कि इससे पहले कभी भी हमारी पार्टी को 2005 या 2010 के विधानसभा चुनाव में इतनी कम सीट नहीं मिली। 2020 में, हमें नुकसान उठाना पड़ा, क्योंकि उन्होंने हमारे उम्मीदवारों की हार सुनिश्चित करने की कोशिश की।” उन्होंने कहा कि वह फिर से मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते थे, लेकिन भाजपा के आग्रह पर पद स्वीकार करने पर सहमत हुए थे।

मुख्यमंत्री ने कहा, “ लेकिन बिहार को (केंद्र की भाजपा सरकार से) कुछ नहीं मिल रहा था। विशेष दर्जे की मांग नहीं मानी गई। वह (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) उस राज्य से ताल्लुक रखते हैं, जो ब्रिटिश शासन के समय से ही समृद्ध रहा है। गरीब राज्यों का विकास किए बिना देश आगे नहीं बढ़ सकता है। उन्होंने कहा, “ मैं कहता हूं कि अगर उनका (भाजपा का) विरोध करने वाले सभी दल एक साथ आ जाएं, तो ऐसा समूह भारी बहुमत का आश्वासन दे सकता है, लेकिन गेंद ऐसे सभी दलों के पाले में है। मैं इसे साकार करने की कोशिश करता रहूंगा।

नीतीश कुमार के देश के विपक्षी दलों को सलाह दिया कि अगर वे अब भी एकजुट नहीं हुए तो आने वाले चुनाव में एक बार फिर से भाजपा को हराना मुश्किल हो जायगा। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों के खंडित रहने का लाभ भाजपा लेती है। वह विपक्ष के वोटों का बिखड़ाव करने की कोशिश में रहती है. इसलिए विपक्ष के जितने भी दल हैं उन्हें एक साथ आने की जरूरत है।


Find Us on Facebook

Trending News