नीतीश को लेकर सतर्क हुई बीजेपी, सरकार की यूएसपी पर सवाल खड़े करने वाले पार्टी के दो बड़े नेताओं पर भाजपा नेतृत्व सख्त

नीतीश को लेकर सतर्क हुई बीजेपी, सरकार की यूएसपी पर सवाल खड़े करने वाले पार्टी के दो बड़े नेताओं पर भाजपा नेतृत्व सख्त

PATNA: सीएम नीतीश के एजेंडा ट्रिपल सी में  2 प्रमुख C यानि क्राईम और करप्शन पर सवाल खड़े करने वाले बीजेपी के दो नेताओं पर भाजपा नेतृत्व ने संज्ञान लिया है। खबर है कि पूरे मामले की जानकारी पार्टी नेतृत्व को दी गई है।

बिहार बीजेपी के वरिष्ठ राजेन्द्र सिंह और पूर्व मंत्री और पार्टी वरिष्ठ नेता रेणू देवी को लेकर पार्टी नेतृत्व गंभीर है। जानाकर सूत्रों से पता चला है कि पार्टी नेतृत्व ने राजेंद्र सिंह के बयान पर आपत्ति जतायी है ।साथ हीं पूर्व विधायक रेणू देवी के भाई द्वारा जिस तरह से गुंडागर्दी की गई है उस पर भी पार्टी नेतृत्व सख्त है।नेतृत्व ने स्पष्ट कर दिया है कि बिहार की छवि को बदनाम करने वालों को हम नहीं बख्शेंगे।  

रेणू देवी के भाई का वीडियो वायरल

दरअसल नीतीश कैबिनेट के पूर्व मंत्री और  बीजेपी की वरिष्ठ नेत्री के भाई की गुंडागर्दी का वीडियो वायरल हुआ है। वायरल विडीयो में बीजेपी नेत्री के भाई की गुंडागर्दी की तस्वीर स्पष्ट तौर पर दिख रही है। बीजेपी के पूर्व विधायक के भाई की गुंडागर्दी का आलम यह कि वह एक दवा दूकान में घुसकर दूकानदार को लात-घूंसों की बरसात करता है।बताया जाता है कि दूकानदार के साथ मारपीट की तस्वीर बेतिया की है।जहां पर बीजेपी के राष्ट्रीय स्तर के नेत्री के भाई जिसका नाम पिनू डॉन है उसने बेतिया शहर के अजंता सिन्मा हॉल चौक स्थित एक दवा दूकान में धुसकर तांडव मचाया है।पूर्व विधायक के डॉन भाई की तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी है।बताया जाता है कि पूर्व विधायक का भाई अपनी बहन रेणु देवी की धौंस दिखाकर लोगों को परेशान करता है। 3 जून को जब वह अजंता सिन्मा हॉल स्थित एक दवा दूकान पर दवा लेने के लिए गया तो दूकानदार अपनी कुर्सी पर पैर चढ़ाकर बैठा था।अपने सामने दूकानदार को कुर्सी पर पैर चढ़ाए देख बीजेपी की राष्ट्रीय नेत्री का भाई आग-बबूला हो गया।वह इसे अपनी तवहीनी मान कर दूकानदार से भिड़ गय़ा और दूकान में घुसकर मारपीट की।

राजेन्द्र सिंह ने खोली थी पोल

वहीं  बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजेन्द्र सिंह ने सीएम नीतीश की महत्वाकांक्षी योजना पर जमकर हमला किया था। उन्होंने कहा था कि बिहार सरकार की नल-जल योजना 'भ्रष्टाचार की जननी' बनकर रह गई है। सबसे ज्यादा अगर कहीं करप्शन है तो वह इस नल-जल योजना में है। सरकार द्वारा जो 'नल-जल योजना' चलाया गया। वह पूरी तरह से फेल हो गई है। आज पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। राजेन्द्र सिंह ने कहा था कि योजना के क्रियान्वयन में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। एक तरफ ठेकेदार नल और पाइप लगाते जा रहे हैं, वही दूसरी तरफ व खराब होता जा रहा है। शायद ही किसी पंचायत में नल-जल योजना सही तरीके से क्रियान्विवत हो सकी है। उन्होंने इस योजना में जिला स्तर पर व्यापक भ्रष्टाचार की शिकायत मिली है।




Find Us on Facebook

Trending News