हड़बड़ी में जेडीयू! PM कैंडिडेट पर मीटिंग हुई नहीं और 'नालंदा' से पहले ही हो गया ऐलान- लाल किले पर झंडा फहराएंगे 'नीतीश'

हड़बड़ी में जेडीयू! PM कैंडिडेट पर मीटिंग हुई नहीं और 'नालंदा' से पहले ही हो गया ऐलान- लाल किले पर झंडा फहराएंगे 'नीतीश'

पटनाः नीतीश कुमार दिल्ली के लाल किले पर झंडा फहरायेंगे. जेडीयू नेताओं ने बजाप्ता यह ऐलान भी कर दिया है। सार्वजनिक मंचों से नीतीश कैबिनेट के मंत्री यह कहते नहीं थक रहे कि नालंदा का लाल,बिहार का मुख्यमंत्री आने वाले समय में लाल किले की प्राचीर से झंड़ा फहरायेगा। जो नीतीश कुमार तेलंगाना के मुख्यमंत्री के गुणगान में कोई कसर नहीं छोड़ रहे थे,वही केसीआर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पीएम कैंडिडेट बनाने की बात पर इधर-उधर की बात करने लगे थे। वे नीतीश कुमार को पीएम कैंडिडेट बनाने की घोषणा करने से बचते रहे। ऐसे में अब कहा जाने लगा है कि जेडीयू के नेता ख्याली पुलाव पका रहे हैं. 

जेडीयू ने पहले ही घोषित किया पीएम कैंडिडेट

विपक्षी एकता को एकजुट करने के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री कुमार चंद्रशेखर राव (KCR) पटना पहुंचे थे। बुधवार पूरे दिन पटना में वह रहे। अंत में शाम में जाते-जाते उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और पत्रकारों के सवालों का जवाब देने लगे। नीतीश कुमार के चेहरे को लेकर चंद्रशेखर राव ने कहा - हम बैठ कर नेता डिसाइड कर लेंगे। जल्द बता दिया जाएगा, कौन नेता होगा। मैं बिहार जैसे पवित्र भूमि में यह बात कर रहा हूं। जेपी के आंदोलन की भूमि है। देश को संभालने की जरूरत है, नहीं तो बहुत देर हो जाएगी। झूठे वादे और झूठे तरीके से काम किया जा रहा है। शर्म करने वाली बात है। KCR ने आज बिहार में कहा कि संपूर्ण देश में संपूर्ण विपक्ष को एक करने की मुहिम पर हम काम कर रहे हैं। यह कोई थर्ड फ्रंट नहीं होगा, यही मेन फ्रंट होगा और इसका नेतृत्व कौन करेगा, समय आने पर यह तय होगा। क्या इस मेन फ्रंट का नेतृत्व नीतीश कुमार करेंगे, इस सवाल के जवाब में KCR ने नीतीश कुमार को बड़ा और योग्य नेता तो बताया, लेकिन दूसरी तरफ नीतीश कुमार अपना नाम सुनकर बार-बार बीच प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही कुर्सी छोड़कर उठ खड़े हो रहे थे। बहुत देर तक अजीबोगरीब स्थिति रही, जब चंद्रशेखर राव बोलते रहे और नीतीश बगल में खड़े रहे। चंद्रशेखर राव कभी उनका हाथ तो कभी उनका कुर्ता पकड़कर खींच कर बिठाते रहे।

नीतीश कुमार जी लाल किले पर झंडा फहराएंगे-श्रवण 

छह दिन पहले नीतीश कैबिनेट में वरिष्ठ मंत्री व सीएम के गृह जिले नालंदा के रहने वाले श्रवण कुमार ने मंच से ऐलान किया था कि नालंदा का लाल लाल किले से झंडा फहरायेगा। नालंदा की धरती पर जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह की मौजूदगी में मंत्री श्रवण कुमार ने साफ कहा था कि नीतीश कुमार जी ने एनडीए को छोड़ा, लात मारा, इसकी पूरी देश में चर्चा है. हर राजनीतिक दल का नेता नीतीश की ओर टकटकी लगाए देख रहा है. ललन सिंह इस काम में लगे हुए हैं. आने वाले समय में नालंदा का बेटा बिहार की धरती का नौजवान, बिहार की धरती के सीएम नीतीश कुमार जी लाल किले पर झंडा फहराएंगे.

रूस के राष्ट्रपति बनने का सपना भी देख सकते हैं

हालांकि नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री बनाने के जेडीयू की कोशिश पर भाजपा नेताओं ने तंज कसा है। बीजेपी के नेता यह कहते नहीं थक रहे कि 45 विधायकों वाली पार्टी पीएम बनाने का सपना देख रही है। विप में नेता प्रतिपक्ष सम्राट चौधरी ने नीतीश कुमार के पीएम कैंडिडेट बनने पर कहा था कि सपना देखने में कोई हर्ज नहीं।वहीं चिराग पासवान ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए पांच दिन पहले कहा था कि वे भारत के पीएम क्या रूस के राष्ट्रपति बनने का भी सपना देख सकते हैं. 

वहीं, तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव और नीतीश कुमार की मुलाकात पर गिरिराज ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि केसीआर नीतीश जी को यह सिखाने के लिए बिहार आए थे कि बिहार को पीएफआई युक्त और हिंदू मुक्त कैसे बनाया जाए। जैसे तेलंगाना और हैदराबाद में 'सर तन से जुदा' का कार्यक्रम चल रहा है।


Find Us on Facebook

Trending News