दागी दारोगा को 'इंस्पेक्टर' बनाने वालों पर 3 महीने बाद भी नहीं हुआ एक्शन, सरकार ने DGP से कहा- कार्रवाई कर सूचना दें

दागी दारोगा को 'इंस्पेक्टर' बनाने वालों पर 3 महीने बाद भी नहीं हुआ एक्शन, सरकार ने DGP से कहा- कार्रवाई कर सूचना दें

PATNA: दागी दरोगा को पहले इंस्पेक्टर और फिर डीएसपी बनाने वाले अधिकारियों-कर्मियों पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। गृह विभाग ने डीजीपी को वैसे अधिकारियों-कर्मियों को चिन्हित कर कार्रवाई करने को कहा था। तीन महीने बाद भी कार्रवाई के संबंध में कोई जानकारी गृह विभाग के पास नहीं है। अब एक बार फिर से गृह विभाग ने डीजीपी को याद कराया है। 

निगरानी थाना में केस लंबित रहने के बाद भी दारोगा से इंस्पेक्टर फिर डीएसपी बने त्रिपुरारी प्रसाद और बनाने वाले बुरे फंसे. सरकार ने उन पर तो कार्रवाई की ही, गलत प्रोन्नति देने वाले कर्मियों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई को कहा था। लेकिन 3 महीने बाद भी गलत प्रोन्नति प्रदान करने वाले कर्मियों के विरुद्ध डीजीपी कार्यालय जवाबदेही निर्धारित नहीं कर सका है. एक बार फिर से गृह विभाग ने डीजीपी को पत्र लिखकर गलत प्रोन्नति देने वाले कर्मियों के विरुद्ध जवाबदेही निर्धारित कर अनुशासनिक कार्रवाई करने को कहा है.

गृह विभाग के उप सचिव सुधांशु कुमार चौबे की तरफ से डीजीपी को पत्र लिखा गया है. पत्र में कहा गया है कि त्रिपुरारी प्रसाद तत्कालीन पुलिस अवर निरीक्षक जो पुलिस उपाधीक्षक विशेष शाखा, को पुलिस अवर निरीक्षक की कोटि से पुलिस निरीक्षक की कोटि में निगरानी थाना में दर्ज कांड संख्या 22- 2006 लंबित रहने के बावजूद दी गई गलत प्रोन्नति दी गई। इसके लिए जिम्मेवार दोषी पदाधिकारियों-कर्मचारियों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध जवाबदेही निर्धारित करें अनुशासनिक कार्रवाई करने को कहा गया था. इस संबंध में बजाप्ता पत्र लिख कर कार्रवाई करने को कहा गया था। लेकिन अभी तक उसका जवाब नहीं आया है. वैसे जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई करें और इसकी सूचना दें.

Find Us on Facebook

Trending News