कोई असर नहीं! पीएचसी प्रभारी और बीएचएम नदारद,अक्टूबर माह से उपस्थिति पंजी और ड्यूटी रोस्टर मिला खाली, एडीएम ने किया कार्रवाई का दिया भरोसा

कोई असर नहीं! पीएचसी प्रभारी और बीएचएम नदारद,अक्टूबर माह से उपस्थिति पंजी और ड्यूटी रोस्टर मिला खाली, एडीएम ने किया कार्रवाई का दिया भरोसा

MOTIHARI : प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव चाहे कितने दावे करें कि सरकारी अस्पतालों की स्थिति में सुधार किया जा रहा है। डॉक्टर नियमित रूप से अस्पताल आएं, इसके निर्देश दिए गए हैं। लेकिन मोतिहारी में इस आदेश को कितनी गंभीरता से लिया गया है, यह मोतिहारी के बंजरिया उप स्वस्थ्य केंद्र का हाल बेहाल है। भगवान भरोसे पीएचसी चलता है। 

मंत्री से लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष व एडीएम के पीएचसी निरीक्षण में अस्पताल प्रभारी व बीएचएम फरार ही मिलते है।इसी से अनुमान लगाया जा सकता है कि अस्पताल में मरीजों को कितना सुबिधा मिलता होगा। मोतिहारी एडीएम पवन कुमार सिन्हा ने बुधवार को पकड़िया स्थित बंजरिया पीएचसी का निरीक्षण किया. जहा निरीक्षण में पीएचसी प्रभारी डॉ. रश्मि कुमारी व बीएचएम संजय कुमार शर्मा गायब मिले. साथ ही दंत चिकित्सक डॉ. वर्षा रानी भी ड्यूटी से नदारद थी। ओपीडी में उपस्थित डॉ. हेमंत कुमार से पूछताछ कर कई आवश्यक दिशा निर्देश दिया. 

एडीएम श्री सिन्हा ने डॉक्टर रोस्टर पंजी व उपस्थित पंजी का अवलोकन किया तो उसपर डॉक्टर के रोस्टर व उपस्थित पंजी पर अक्टूबर माह तक ही चिकित्सकों व कर्मियों का उपस्थित दर्ज थी. वही पीएचसी परिसर में गंदगी का अंबार लगा हुआ था, साथ ही उपस्थित स्थानीय अधिकारियों ने भी एडीएम श्री सिन्हा से पीएचसी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व बीएचएम के लगातार गायब रहने का शिकायत की. जिस पर उन्होंने काफी नाराजगी जताते हुए बीएचएम पर सख्त कड़ी कार्रवाई करने का बात कहा.

 वही पीएचसी प्रभारी व दंत चिकित्सक के गायब रहने के बारे में बताया कि उक्त दोनों पर कार्रवाई के लिए पत्र लिखेंगे. उन्होंने कहा कि हर हाल में लापरवाह बीएचएम पर कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि उपस्थिति पंजी देखा तो उसपर नवंबर माह 2 दिनों यानी 1 व 2 नवंबर को किसी की उपस्थित दर्ज नहीं मिली. इसके बाद वे अजगरी पंचायत के आदर्श आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण किया, जहां सेविका-सहायिका व बच्चे पर्याप्त मात्रा में उपस्थित मिले।

 जिसके बाद उन्होंने चूड़ीहरवा टोला निवासी पीडीएस दुकानदार रविन्द्र चौधरी का दुकान का जांच की. जहां उन्होंने संतोष जनक पाया. मौके पर सीओ मणिकुमार वर्मा, राजस्व कर्मचारी पवन कुमार, मुखिया पति दीपक कुमार सिंह, जेई शिवशंकर यादव, उपमुखिया राजू प्रसाद, अमित कुमार, रजनीश कुमार पांडेय सहित अन्य उपस्थित थे. 

सूत्रों की माने तो इससे पूर्व में विधि मंत्री डॉ. शमीम अहमद व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सह बेतिया सांसद डॉ. संजय जायसवाल व तत्कालीन डीडीसी कमलेश कुमार सिंह के निरीक्षण के क्रम में भी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व बीएचएम गायब मिले थे। वही दोनों किसी भी अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों का भी कॉल रिसीव करना मुनासिब नहीं समझते हैं। वह लगातार पीएचसी से गायब रह रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News