लालू-राबड़ी मॉडल और 'सुशासन' मॉडल में फर्क नहीं! सरकारी विभागों में को-ऑडिनेशन का भारी अभाव, BJP सांसद ने खोली पोल

लालू-राबड़ी मॉडल और 'सुशासन' मॉडल में फर्क नहीं! सरकारी विभागों में को-ऑडिनेशन का भारी अभाव, BJP सांसद ने खोली पोल

PATNA: बिहार में कहने को सुशासन राज है। लेकिन इस सरकार में सिस्टम की लापरवाही साफ-साफ दिखती है। इस वजह से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। सुदूर देहात की बात छोड़िए राजधानी पटना जहां सरकार बैठती है वहां के लोग भी बेहाल हैं. सरकार का दावा है कि सबकुछ ठीक चल रहा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके सहयोगी लालू-राबड़ी राज पर सवाल खड़े करते हैं लेकिन आज की वास्तविक हकीकत लालू-राबड़ी फार्मूले से कुछ खाल अलग नहीं है। यूं कहें कि नीतीश का सुशासन मॉडल भी राबड़ी मॉडल की तर्ज पर ही काम कर रहा। बीजेपी के सांसद ने सुशासन के सिस्टम की पोल खोल दी है।  

  को-ऑडिनेशन का भारी अभाव

पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री और भाजपा के सांसद राम कृपाल यादव ने आज पटना नगर निगम वार्ड नं0 -11 बेउर मोड़ मछली बाजार, गंगा विहार कॉलोनी, बेउर गांव सम्प हाउस, हसनपुरा रोड अस्थाई सम्प हाउस, बेतौड़ा पल बादशाही पइन, न्यू महावीर कॉलनी बाई पास एवं आस-पास के इलाकों का बरसात पूर्व तैयारियों का जायजा लिया।  बेउर के आस-पास के इलाकों में बुडको द्वारा नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत कार्य चल रहा है। कार्य की धीमी प्रगति के कारण पूरे इलाका अस्तव्यस्त अवस्था में है। कहीं सड़क पर गड्ढा करके के छोड़ दिया गया है तो कहीं पहले से निर्मित सड़क को तोड़ दिया गया है। लोग काफी परेशानी में हैं।बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव ने जब ये स्थिति देखी तो उन्होंने मौके से ही बुडको के प्रबंध निदेशक रमन कुमार को फोन कर स्थिति की गंभीरता से अवगत कराया। सांसद ने कहा कि बुडको, पटना नगर निगम, पथ निर्माण विभाग और जल संसाधन विभाग में कोआर्डिनेशन का अभाव जमीन पर स्पष्ट दिख रहा है।

BJP सांसद ने खोली पोल

रामकृपाल यादव ने कहा कि अभी भी कई जगहों पर नाला पर अतिक्रमण है। न्यू महावीर कॉलोंनी में मंदिर के पीछे जो नाला बाईपास की ओर जाती वहाँ सफाई नहीं की गई है.वो नाला आगे जाकर बायपास में जाकर अवरुद्ध हो जाता है। जिसके कारण क्षेत्र में भीषण जल जमाव होता है। बीजेपी सांसद ने कार्यपालक पदाधिकारी को तुरंत इसका हल निकालने को कहा। जहां- जहां उड़ाही नहीं हुआ है वहाँ जल्द उड़ाही करने को कहा। बेउर से हसनपुरा सड़क को पथ निर्माण विभाग द्वारा बनाना है। परंतु अभी तक नगर निगम द्वारा एनओसी नहीं दिया गया है। सांसद ने इस बाबत नगर निगम आयुक्त हिमांशु शर्मा से दूरभाष पर बात की।पीएमसी कमिश्नर ने आश्वासन दिया कि दो दिनों में एनओसी भेज दिया जाएगा। नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत 43 एमएलडी क्षमता का एसटीपी तैयार है. पिछले साल प्रधानमंत्री मोदी ने उद्घाटन किया था। लेकिन पाइपलाइन का कार्य पूरा नहीं होने के कारण पूरी क्षमता का उपयोग नहीं हो पा रहा है। सांसद ने धीमी कार्य करने वाली एजेंसी पर कार्रवाई करने की मांग सरकार से की है।

सांसद के साथ वार्ड पार्षद रवि प्रकाश, जीत कुमार, पूर्व वार्ड पार्षद अविनाश यादव पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रणधीर यादव,  मण्डलअध्यक्ष अपलेंद्र सिन्हा चंदन, कुंदन, रूपेश, रेखा सिन्हा, उषा देवी सहित कई लोग थे।

Find Us on Facebook

Trending News