न मंगनी, ना बाराती! लड़की देखने गया था, दुल्हन बनाकर साथ लेकर लौटा

न मंगनी, ना बाराती!  लड़की देखने गया था, दुल्हन बनाकर साथ लेकर लौटा

चतरा। ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है कि लड़की देखने जाएं और उसी समय न सिर्फ रिश्ते की बात तय हो, बल्कि उसी दिन लड़का-लड़की की शादी भी जाए। झारखंड के चतरा में ऐसा कुछ देखने को मिला है। यहां लड़का आया था लड़की देखने के लिए। लड़की देखते ही उनके मन में भा गया और वह शादी के लिए जिद मचा दिया। घर-परिवार को लाख समझाने के बाद भी वह नहीं माना और शादी करके दुल्हन को अपने साथ ले गया।

मामला गिद्धौर प्रखंड मुख्यालय का है। दरअसल हुआ यूं कि हजारीबाग जिले के चौपारण प्रखंड के भगहर-भंडार निवासी स्वर्गीय विनोद दांगी के पुत्र राजेंद्र कुमार की शादी का रिश्ता गिद्धौर के ब्रह्मदेव दांगी की पुत्री संजू कुमार से लगा था। राजेंद्र गुरुवार को लड़की देखने के लिए गिद्धौर आया। लड़के को लड़की इतनी पसंद आई कि उसने शादी के लिए करने की मांग कर दी। इस दौरान लड़की के पिता एवं अन्य रिश्तेदार उन्हें लग्न का शुभ मुहूर्त का हवाला देते हुए अप्रैल में शादी कराने की बात समझाते रहे, लेकिन राजेंद्र इसके लिए तैयार नहीं हुआ। यहां तक कि वह बगैर तिलक-दहेज व बगैर शुभ मुहूर्त की शादी करने पर अड़ गया।

जिद के आगे झूके परिवार के लोग

लड़की संजू के पिता ब्रह्मदेव दांगी गांव के पंचायत समिति सदस्य महादेव दांगी, निरंजन कुमार सहित अन्य गणमान्य लोगों को इसकी सूचना दिया। सभी लोग ब्रह्मदेव दांगी के यहां पहुंचकर इस पर चर्चा की। उन्होंने लड़के को काफी समझाने बुझाने का प्रयास किया। परंतु बगैर विवाह किए वह लौटने का तैयार नहीं हुआ। अंतत: प्रखंड मुख्यालय के बटेश्वर शिव मंदिर में हिदू रीति रिवाज से दोनों का विवाह कराया गया। शादी के बाद राजेंद्र दुल्हन को लेकर अपना गांव रवाना हो गया।

Find Us on Facebook

Trending News