सोनिया-नीतीश की मुलाकात की तस्वीर गायब ! BJP नेताओं के खुलासे पर CM बोले- पता नहीं...क्या बोल रहे हैं, हा हा हा...

सोनिया-नीतीश की मुलाकात की तस्वीर गायब ! BJP नेताओं के खुलासे पर CM बोले- पता नहीं...क्या बोल रहे हैं, हा हा हा...

PATNA: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की है। इस दौरान लालू प्रसाद भी साथ रहे। लेकिन तीनों नेताओं के बीच हुई मुलाकात की कोई तस्वीर साझा नहीं की गई। विपक्षी एकता को लेकर इतनी महत्वपूर्ण बैठक वो भी महज 20 मिनट,इसके बाद बैठक की कोई तस्वीर जारी नहीं होने के बाद कई तरह के सवाल खड़े हो गये हैं. बताय़ा जा रहा है कि सोनिया गांधी ने सिर्फ औपचारिकता निभाई। सोनिया-नीतीश की मुलाकात की कोई तस्वीर जारी नहीं होने के बाद भाजपा ने कहा है कि नीतीश कुमार को सोनिया गांधी ने कोई भाव ही नहीं दिया. इसके पहले नीतीश कुमार ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी. तब तस्वीर जारी कर बताया गया था कि विपक्षी एकता को लेकर बैठक काफी सफल रही. सोनिया-नीतीश की मुलाकात की तस्वीर नहीं जारी करने पर जेडीयू बैकफुट पर है। वहीं नीतीश कुमार ने बीजेपी के सवाल पर कहा कि पता नहीं क्या बोलते हैं..बीजेपी के बोलने का हम नोटिस नहीं लेते। 

हम बीजेपी का नोटिस नहीं लेते 

रविवार को दिल्ली में सोनिया गांधी के आवास पर नीतीश कुमार और लालू प्रसाद पहुंचे थे। बताया जाता है कि तीनों के बीच सिर्फ 20 मिनट की मुलाकात हुई। मुलाकात कर बाहर निकले नीतीश कुमार और लालू यादव ने विपक्षी गोलबंदी को लेकर हाथ उठाकर तस्वीर खिंचाई। सोनिया गांधी से मुलाकात वाली तस्वीर जारी नहीं करने पर जेडीयू बैकफुट पर है।वहीं दिल्ली में आज नीतीश कुमार ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हमारी मुलाकात सोनिया गांधी से हुई है। सोनिया गांधी द्वारा भाव नहीं दिये जाने के बीजेपी के आरोपों पर सीएम नीतीश ने कहा कि पता नहीं...क्या बोल रहे हैं.सुशील मोदी के आरोपों पर नीतीश कुमार ने कहा कि वो कुछ बोलेंगे तभी न कुछ फायदा होने वाला नहीं है। उनलोगों के बोलने का कोई मतलब नहीं। कोई कमेंट नहीं, ऐसे ही बोलते रहता है सब। विपक्षी दलों में गोलबंदी नहीं होने के बीजेपी के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि वे लोग बोलते रहें, उनको तो बोलना ही है न, उनके यहां तो खुद 10 प्रॉब्लम है। सोनिया गांधी से फिर से मुलाकात करने के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि उनके यहां चुनाव होना है। उनसे जितनी बात हुई हमने तो बता ही दिया है।

 राहुल गांधी से मुलाकात के बाद तो नीतीश ने जारी की थी तस्वीर....

नीतीश कुमार विपक्षी नेताओं से बातचीत करने 5 सितंबर को पहली दफे पटना से दिल्ली गये थे। दिल्ली जाते ही मुख्यमंत्री ने सबसे पहले कांग्रेस पार्टी की तरफ से पीएम कैंडिडेट राहुल गांधी से मुलाकात की थी। करीब चालीस मिनट की बैठक में खास नतीजा नहीं निकला था। हालांकि राहुल गांधी के साथ मुलाकात की तस्वीर सीएम नीतीश ने अपने ट्वीटर पर डाल कर संदेश देने की कोशिश की थी,कि विपक्षी की सियासत में हम धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे हैं. इसी तरीके से अपने पहले दिल्ली दौरे के दौरान नीतीश कुमार वामपंथी धड़े के बड़े चेहरे सीताराम येचूरी और डी. राजा के साथ बैठक की थी। फिर उसी दिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ बैठे। दोनों नेताओं के बीच विपक्षी एका पर बातचीत हुई थी। नीतीश कुमार ने हरियाणा के पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला, मुलायम सिंह यादव और उनके बेटे अखिलेश यादव से भी मुलाकात की थी। इसके बाद कभी जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाये गये शरद यादव से भी नीतीश कुमार ने मुलाकात की और विपक्ष की गोलबंदी पर बातचीत की। वहीं शरद पवार सहित अन्य सभी नेताओं से मुलाकात करने के बाद नीतीश कुमार की तरफ से मीटिंग की तस्वीर जारी कर विपक्षी एकता की सियासत को खूब खाद-पानी देने की कोशिश की गई। 

सोनिया गांधी से मुलाकात हुई पर तस्वीर कहां हैं? 

अब जरा देखिए.....रविवार को नीतीश कुमार फतेहाबाद होते हुए दिल्ली पहुंच गये। गौरतलब है कि लालू प्रसाद ने कांग्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी से मुलाकात का समय तय किया था। तय समय के अनुसार लालू प्रसाद के नेतृत्व में नीतीश कुमार सोनिया गांधी से मुलाकात करने पहुंचे। दोनों नेता करीब 20 मिनट तक अंदर रहने के बाद वापस लौटे। इसके बाद मीडिया से बातचीत के दौरान बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकने की बात दुहराते हुए बातचीत का मजमून इतना ही दे पाये कि हमने सोनिया जी से आग्रह किया है कि आप सबको एक साथ बुलाएं. जिस पर मैडम ने कहा कि कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव हो जाने दीजिए. उसके बाद ही हम आप सबसे एक साथ मिलेंगे और बात करेंगे. 

बीजेपी कह रही-सोनिया ने भाव ही नहीं दिया

अब जरा, सियासत के इस अंदाज को देखिए, सोनिया गांधी के आवास से सिर्फ 20 मिनट में बाहर हो जाने वाले बिहार के नेता द्वय लालू-नीतीश मीडिया के सामने हाथ जोड़कर फोटो खिंचवाते रहे. लेकिन इतने समय बीतने के बाद भी सोनिया गांधी से मुलाकात की एक भी तस्वीर न तो इन नेताओं की तरफ से और ही कांग्रेस या सोनिया गांधी की तरफ जारी की गई। ऐसे में सवाल उठता है कि यह कैसी मुलाकात थी,क्या बात हुई जिसकी एक तस्वीर तक लोगों के सामने नहीं आ पाई। तस्वीर नहीं आने के बाद विपक्षी एकता के दावे की खूब खिल्ली उड़ाई जा रही है. बिहार के सियासी गलियारे में मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी इस पर खूब मजे ले रही है। बीजेपी तो यहां तक कह रही है कि इन नेताओं से सोनिया गांधी ने मुलाकात ही नहीं की। अगर मुलाकात करतीं तो ये नेता जरूर ही फोटो दिखाते। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह कहते हैं कि सुनने में आया है कि सोनिया गांधी ने पलटू राम को दुत्कार कर भगा दिया। मुलाकात न करने की बात को इससे और बल मिल रहा है कि राहुल गांधी से जब नीतीश कुमार की मुलाकत हुई थी तो भले ही राहुल ने तस्वीर नहीं जारी की लेकिन नीतीश कुमार ने उस तस्वीर को जारी कर मैसेज देने की कोशिश की थी। 

Find Us on Facebook

Trending News