मॉनसून आने के बाद भी नहीं चेता बेगूसराय नगर निगम, सड़क के बीचों-बीच टूटे हैं नालों के ढक्कन

मॉनसून आने के बाद भी नहीं चेता बेगूसराय नगर निगम, सड़क के बीचों-बीच टूटे हैं नालों के ढक्कन

BEGUSARAI : बेगूसराय में नगर निगम की बदहाली का नमूना वार्डों में देखने को मिल रहा है. यहाँ सड़क किनारे या फिर सड़क के बीचो-बीच बने नाले के दर्जनों ढक्कन टूट चुके हैं. इसके बावजूद नगर निगम लापरवाह बना हुआ है. गौरतलब है कि पिछले वर्ष भी ऐसे ही टूटे ढक्कन  की वजह से एक बच्चे की नाली में गिर कर मौत हो चुकी थी. 

ऐसा प्रतीत हो रहा है कि नगर निगम किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहा है. जाहिर है की बिहार में अब मानसून ने दस्तक दे दिया है. कभी भी भारी बारिश हो सकती है. इसके बावजूद पिछले साल की तरह ही इस बार भी नगर निगम की ओर से बारिश से निपटने की कोई तैयारी नहीं की गई है. 

विभिन्न वार्डों में दर्जनों ऐसे नाले हैं जो खुले पड़े हैं और हादसे को दावत दे रहे हैं. आलम यह है कि लोग परेशान हैं. छोटे-छोटे छात्र जान जोखिम में डाल कर घर से विद्यालय और विद्यालय से घर आ जा रहे हैं. लेकिन निगम लापरवाह बना हुआ है. लोगों की ओर से लगातार इस संबंध में नगर निगम से गुहार लगाया जा रहा है. 

इसके बावजूद संबंधित पदाधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है. लोगों ने कहा कि टूटे ढक्कन के लिए भी जिम्मेवार नगर निगम और इसके कर्मचारी ही हैं. स्थानीय लोगों की माने तो कचरा उठाने के लिए भारी वाहनों जैसे जेसीबी का प्रयोग किया जाता है और कमजोर ढक्कन रहने की वजह से जेसीबी के आते ही ढक्कन टूट जाते हैं. लेकिन टूटे ढक्कन को बदलने का की दिशा में कोई प्रयास नगर निगम की ओर से नहीं किया जाता है. 

बेगूसराय से धनंजय झा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News