चिकित्सा सुविधा की मांग को लेकर अनशन पर बैठा जेल में बंद कुख्यात, पत्नी ने बंदी परामर्शदात्री से सुविधा देने की लगाई गुहार

चिकित्सा सुविधा की मांग को लेकर अनशन पर बैठा जेल में बंद कुख्यात, पत्नी ने बंदी परामर्शदात्री से सुविधा देने की लगाई गुहार

भागलपुर. हत्या, फिरौती, अपहरण जैसे कई संगीन मामलों का आरोपी कुख्यात मुकेश पाठक फिलहाल भागलपुर जेल में बंद है. लेकिन, जेल में चिकित्सा सुविधा नहीं मिलने से परेशान मुकेश पाठक अब अनशन पर बैठ गया है. मुकेश की पत्नी पूजा पाठक ने इस संबंध में महानिरीक्षक (कारा) सहित बंदी परामर्शदात्री को पत्र लिखा है. 

पूजा के अनुसार उसके पति मुकेश को हृदय सम्बन्धी बीमारी से है. वे सीतामढ़ी जेल में बंद थे लेकिन 2018 में प्रशासनिक आदेश पर मुकेश को भागलपुर के शहीद जुब्बा सहनी केन्द्रीय कारा भेज दिया गया था. पूजा का कहना है कि मुकेश से संबंधित कई मामले मुज्जफरपुर, दरभंगा, सीतामढ़ी, शिवहर, गोपालगंज एवम मोतिहारी में विचाराधीन हैं जिसे बिना मुकेश को उन जगहों पर उपस्थापन किए बगैर निष्पादित नहीं किया जा सकता है. 

पूजा ने कहा है कि जेल में काफी घटिया भोजन दिया जाता है. न तो भोजन देने में नियमावली का ख्याल रखा जाता है और ना ही कैदियों को घर से खाना मंगवाने की अनुमति है. ऐसे में उनके बीमार पति के स्वास्थ्य पर असर पर रहा है. 2019 में गोपालगंज न्यायालय के आदेश पर मुकेश का उपचार कराया गया था. 

जेल में बढिया भोजन नहीं मिलने और चिकित्सा सुविधा नहीं होने के कारण मुकेश सहित कुछ अन्य कैदी 30 नवंबर से जेल में अनशन पर बैठे हैं. हालांकि भागलपुर जेल अधीक्षक संजय कुमार चौधरी ने जेल में कैदियों के अनशन की पुष्टि नहीं की है. उन्होंने कहा कि जेल में न तो कोई अनशन पर बैठा है और ना ही उन्हें मुकेश पाठक की चिट्ठी के बारे पता है. 

जेल में पति की जान को खतरा

पूजा पाठक का कहना है कि मुकेश को जेल में खूंखार लक्ष्मी सिंह गिरोह के साथ रखा गया है. इससे मुकेश की जान को खतरा है. उसने जेल प्रशासन से पति को अन्यत्र रखने का अनुरोध किया है. 

Find Us on Facebook

Trending News