अब नहाना-धोना भी हो गया महंगा, बढ़ती महंगाई के बीच और एक झटका, 40 फीसदी तक बढ़ी सर्फ-साबुन की कीमत

अब नहाना-धोना भी हो गया महंगा, बढ़ती महंगाई के बीच और एक झटका, 40 फीसदी तक बढ़ी सर्फ-साबुन की कीमत

पटना. पेट्रोल-डीजल और गैस की आए दिन बढ़ रही कीमतों के बीच अब लोगों का नहाना-धोना भी मंहगाई की भेंट चढ़ रहा है. बढती महंगाई से कई तरह की आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहे आम लोगों की जेब पर अब साबुन-सर्फ की बढती कीमतों का बोझ पड़ा है. आम आदमी के रोजमर्रा के जीवन में इस्तेमाल होने वाली चीजें महंगी होती जा रही है. पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दाम पहले से ही रिकॉर्ड स्तर पर है. इस बीच आम जनता के लिए अब नहाना और कपड़े धोना भी महंगा हो गया है.

बढ़ती महंगाई के बीच देश की सबसे बड़ी एफएमजीसी कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल) ने साबुन और सर्फ की कीमतों में इजाफा कर दिया है. एचयूएल ने अपने प्रोडक्ट्स के दाम में 20 फीसदी का इजाफा किया है. साल 2022 में यह दूसरी बार है जब कंपनी ने सर्फ और साबुन के दाम बढ़ाये हैं.

हिंदुस्तान यूनिलीवर ने व्हील, रिन, लाइफबॉय समेत कई साबुन की कीमतों में इजाफा हो गया है. 125 ग्राम वाले Dove और Pears की कीमत में 10-12 रुपये की बढ़ोतरी की गयी है. वहीं Lifebuoy साबुन के 4 टिकियों वाले 1 बंडल की कीमत 124-136 रुपये कर दी गयी है. इसी तरह Wheel detergent के 500 ग्राम के पैकेट की कीमत 32 रुपये से बढ़ाकर 33 रुपये हो गयी है. वहीं 1 किलो वाले Wheel detergent पैकेट की कीमत 63 रुपये से बढ़ाकर 65 रुपये की गयी है. कंपनी ने Vim Liquid के 500 ml के पाउच की कीमत 99 रुपये से बढ़ाकर 104 रुपये कर दी है.

कंपनी कच्चे माल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के कारण अपने प्रोडक्ट के दाम बढ़ा रही है. हिंदुस्तान यूनिलीवर ने 2022 में पहले भी कच्चे माल के दामों में बढ़ोतरी का हवाला देकर कई प्रोडक्ट के दाम बढ़ाये थे. 13 जनवरी को कंपनी ने साबुन और सर्फ डिटर्जेंट की कीमतों 3 से 20 फीसदी की बढ़ोतरी की थी. ऐसे में अगर देखा जाए तो इस साल अब तक सर्फ-साबुन की कीमतों में 40 फीसदी तक का इजाफा हो चुका है. 


Find Us on Facebook

Trending News