अब JDU ने सुशील मोदी को दिया करारा जवाब: कहा- आप मुगालते में जी रहे हैं, नीतीश कुमार की कृपा से आप डिप्टी CM बने थे

अब JDU ने सुशील मोदी को दिया करारा जवाब: कहा- आप मुगालते में जी रहे हैं, नीतीश कुमार की कृपा से आप डिप्टी CM बने थे

PATNA : बिहार प्रदेश जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता अरविन्द निषाद ने राज्यसभा सांसद सुशील मोदी को करारा जवाब देते हुए कहा कि आप मुगालते में जी रहे है। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, लोकनायक जयप्रकाश नारायण के आंदोलन से निकले हुए राजनेता है। ललन सिंह छात्र आंदोलन क्रम में हजारीबाग कारा में बंद थे। जननायक कर्पूरी ठाकुर के साथ समाजवादी आंदोलन में ललन सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।


उन्होंने कहा की वर्ष 2000 में ललन सिंह संघर्ष के बदौलत राज्यसभा सांसद समता पार्टी के सदस्य के रूप में बनाए गए। वर्ष 2004 में बेगूसराय संसदीय क्षेत्र से समता पार्टी के लोकसभा सदस्य के रूप में निर्वाचित हुए। समाजवादी आंदोलन के पार्टी के रूप में स्थापित जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर जदयू को राष्ट्रीय स्तर पर मजबूत बनाने के लिए अपनी भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं।

निषाद ने कहा की सुशील मोदी को यह नहीं भूलना चाहिए कि समता पार्टी एवं जनता दल यूनाइटेड से गठबंधन होने के बाद ही बिहार में भारतीय जनता पार्टी को स्थापित होने का मौका मिला। बिहार में वर्ष 2005 में एनडीए के सत्तारूढ़ होने के बाद भाजपा नेता के रूप में सुशील मोदी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विशेष कृपा से उपमुख्यमंत्री के पद पर आसीन होने का अवसर प्राप्त हुआ। भारतीय जनता पार्टी के आंतरिक संघर्ष में सुशील मोदी को भाजपा विधानमंडल दल के नेता थे, को हटाने के लिए बिहार सरकार के तत्कालीन मंत्री अश्वनी चौबे ने सुशील मोदी के खिलाफ जंग का ऐलान कर हटाने का संकल्प लिया था। 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं तत्कालीन जनता दल यू के प्रदेश अध्यक्ष ललन सिंह ने विशेष रुचि लेते हुए भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी से मध्यस्थता कर सुशील मोदी को भाजपा विधायक दल के नेता चुनाव में जिताने हेतु मदद किया। जिसमें सुशील मोदी अपने विरोधी अश्विनी चौबे को पराजित कर भाजपा विधानमंडल के नेता बने रहे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं जनता दल (यू0) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के कार्यस्थली क्षेत्र भागलपुर से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के उम्मिदवार सुशील मोदी को वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव जीताने में विशेष कृपा रही।

विवेकानंद की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News