अब IGIMS में नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत, 60 लाख की लागत से प्लांट बनकर तैयार

अब IGIMS में नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत, 60 लाख की लागत से प्लांट बनकर तैयार

PATNA : कोरोना के दूसरे चरण में जिस तरह ऑक्सीजन की कमी के कारण सैंकड़ों मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। लेकिन अब इस स्थिति को दूर करने के प्रयास शुरू हो गए हैं। पटना के बड़े अस्पतालों में शामिल आईजीआईएमएस में रविवार को नए बने ऑक्सीजन प्लांट की शुरूआत की जाएगी। इस प्लांट की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह हवा से एक मिनट में 233 लीटर ऑक्सीजन तैयार करेगा। 60 लाख की लागत से तैयार प्लांट का उद्घाटन पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद करेंगे।

IGIMS में चार प्लांट किए जा रहे हैं तैयार

बताया गया कि IGIMS में चार ऑक्सीजन प्लांट तैयार किए जा रहे हैं। जिनमें एक प्लांट तीन प्लांट को तैयार करने का काम भी जोरों पर है। इन तीनों प्लांट की क्षमता भी 60 हजार लीटर है। बताया गया यह तीनों प्लांट भी 15 अगस्त बनकर तैयार हो जाएंगे। यदि कोरोना की तीसरी लहर आ गई तो समय से पहले भी चालू किए जा सकते हैं। इनमें दो आॅक्सीजन प्लांट और एक कंसेंट्रेटर प्लांट है। इतने प्लांट चालू हो जाने के बाद आॅक्सीजन सप्लाई के मामले में आईजीआईएमएस आत्मनिर्भर हो जाएगा। मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. मनीष मंडल के मुताबिक, कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर तैयारी की जा रही है। फिलहाल जो ऑक्सीजन तैयार होगा, उसकी सप्लाई इमरजेंसी और ओटी में की जाएगी। इसके बाद वार्ड में सप्लाई की जाएगी।
 
PMCH-NMCH में भी दो सप्ताह में प्लांट बनकर तैयार

पीएमसीएच में एक आॅक्सीजन प्लांट (क्रायोजेनिक) दो सप्ताह के अंदर कार्यरत हो जाएगा। बताया गया कि निर्माण एजेंसी को निर्देश दिया गया है कि 15 दिन के अंदर यह प्लांट कार्यरत हो जाना चाहिए। यहां एक इनवायरमेंट से एयर लेकर ऑक्सीजन तैयार करने वाला प्लांट कार्यरत हो गया है। वहीं एनएमसीएच में भी दो ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण हो रहा है। इनमें एक प्लांट क्रायोजेनिक है, जबकि दूसरे में इनवायरमेंट से एयर लेकर ऑक्सीजन तैयार किया जाएगा। एक महीने के अंदर दोनों प्लांट का निर्माण कार्य पूरा हो जाने की उम्मीद है। अधीक्षक के मुताबिक एक प्लांट से 20 मीट्रिक टन क्सीजन तैयार होगा, जबकि दूसरे से दो हजार लीटर प्रति मिनट।

Find Us on Facebook

Trending News