अब दो घंटे में हो जाएगी ओमिक्रॉन की पहचान, भारतीय वैज्ञानिकों को मिली बड़ी कामयाबी

अब दो घंटे में हो जाएगी ओमिक्रॉन की पहचान, भारतीय वैज्ञानिकों को मिली बड़ी कामयाबी

नई दिल्ली. कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच भारतीय वैज्ञानिकों को जाँच प्रक्रिया के सरल करने में बड़ी कामयाबी मिली है. वैज्ञानिकों ने एक ऐसी किट तैयार की है जो मात्र दो घंटे में यह बताने में सक्षम है कि ओमिक्रॉन से व्यक्ति संक्रमित हुआ है या नहीं. 

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने असम के डिब्रूगढ़ में इस नए कोविड टेस्ट किट को तैयार किया है. इससे दो घंटे में ओमिक्रॉन संक्रमण की जानकारी मिल सकेगी. माना जा रहा है कि यह किट के उपयोग से ओमिक्रॉन का पता लगाने में बड़ी सफलता मिलेगी जिससे लोगों के संक्रमण का प्रसार कम हो सकेगा. ओमिक्रॉन के अलग अलग राज्यों में बढ़ते मामलों को देखते हुए यह किट काफी अहम साबित हो सकती है.  हालंकि अभी इसके उपयोग को लेकर प्रमाणन की प्रक्रिया शेष है. 

कोरोना का नया ओमिक्रॉन वैरिएंट तेजी से देश के कई शहरों में फ़ैल रहा है. भारत में अब महाराष्ट्र, राजस्थान, कर्नाटक, गुजरात, दिल्ली के बाद आंध्र प्रदेश और चंडीगढ़ में भी ओमिक्रॉन के नए मरीज की पहचान हुई है. इसे लेकर देश में स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है. कोरोना के संक्रमण में भी पिछले कुछ दिनों में तेजी देखी गई है.

इस बीच क अध्ययन में कहा गया है कि ओमिक्रॉन के कारण जनवरी में यूके में बड़ी लहर आ सकती है. इसके आलावा दक्षिण अफ्रीका में भी ओमिक्रॉन का तेजी से कई देशों में संक्रमण फ़ैल हो रहा है. यहाँ तक कि दुनिया के जिन देशों में ओमिक्रॉन फैला है उसकी जड़ें अफ्रीका से जुड़ी मिली है. अब ओमिक्रॉन ने दुनिया के कई देशों में हड़कंप मचाकर रखा है. 

वहीं भारत सरकार की ओर से कहा गया है कि ओमिक्रॉन को लेकर फ़िलहाल किसी प्रकार की चिंता की बात नहीं है. लेकिन जिस तरह से यह कई शहरों में फ़ैल रहा है वह आने वाले समय में गम्भीर खतरे का कारण बन सकता है. ऐसे में सभी लोगों से कोरोना टीके की दोनों डोज लेने और अनिवार्य रूप से कोरोना गाइड लाइन का पालन करने की बात कही गई है. खासकर मास्क पहनने को लेकर जागरूक रखने कहा गया है.

Find Us on Facebook

Trending News