अब अपने दोनों पैर पर चलकर स्कूली जाएगी सीमा, ट्राई साइकिल के बाद अब प्रशासन ने लगवाए कृत्रिम पांव

अब अपने दोनों पैर पर चलकर स्कूली जाएगी सीमा, ट्राई साइकिल के बाद अब प्रशासन ने लगवाए कृत्रिम पांव

JAMUI : 11 साल की दिव्यांग सीमा को अब कूदते हुए एक पांव पर अपने स्कूल जाना नहीं पड़ेगा। हादसे में अपना एक पैर गंवानेवाली सीमा अब फिर से न सिर्फ अपने दोनों पांव पर खड़ी हो गई है, बल्कि दूसरे बच्चों की तरह दोनों पैरों से चलते हुए स्कूल भी जा सकेगी। शुक्रवार को जिला प्रशासन ने सीमा के लिए कृत्रिम पांव लगवाए। इस दौरान खुद जिले के डीएम भी वहां मौजूद रहे। उन्होंने सीमा तथा उसके परिवार के लिए कई घोषणाएं भी की।

चार दिन पहले जमुई जिले से 11 साल की दिव्यांग बच्ची सीमा का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह एक पैर से कूदते हुए पगडंडी रास्ते के बीच जाते हुए दिख रही थी। जिसके बाद सभी कई नेताओं और  संगठनों ने लोगों ने उसकी मदद करने का भरोसा दिया था। इसी क्रम में बुधवार को पहले सीमा को ट्राइ साइकिल दिया गया था,  बुधवार को ही कृत्रिम पैर लगाने के लिए उसके पैर का माप लिया था। फिर शुक्रवार को कृत्रिम पैर लगाया गया। जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह खुद सीमा के घर जाकर सीमा को कृत्रिम पैर लगवाया। 

नए पैर मिलने के बाद सीमा के चेहरे पर मुस्कान बता रही थी कि वह कितनी खुश थी। पैर लगने के बाद उसने कुछ दूर कदम चलकर देखा। कहा-अब मुझे एक पैर पर कूदकर नहीं जाना होगा। इस दौरान जिला प्रशासन की पूरी टीम बुधवार को सीमा के घर पर मौजूद थी। सभी ने सीमा को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। इस दौरान उसकी पढ़ाई की लगन को सभी ने सराहा। इस मौके पर जमुई के जिला अधिकारी अवनीश कुमार ने कहा कि सीमा का पढ़ने के प्रति हौसला काबिल-ए-तारीफ है। वह खुद अपनी प्रेरणा से स्कूल जा रही है, जो सभी के लिए प्रेरणादायक है।

सीमा का स्कूल बनेगा स्मार्ट

जिलाधिकारी अवनीश कुमार ने कहा कि सीमा के माता-पिता जो काफी गरीब हैं, इनके परिवार को जल्द राशन कार्ड, मकान, सरकारी योजना के तहत मिलने वाली सारी सुविधाएं मिलेगी। वहीं सीमा जिस स्कूल में पढ़ती है, उस स्कूल में 1 महीने के अंदर स्मार्ट क्लास बनाया जाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News