अब पटना में भी थप्पड़बाजी : महिला सिपाही ने पुरुष जवान को मारी थप्पड़, बीच सड़क पर आपस में उलझ गए पुलिसकर्मी

अब पटना में भी थप्पड़बाजी : महिला सिपाही ने पुरुष जवान को मारी थप्पड़, बीच सड़क पर आपस में उलझ गए पुलिसकर्मी

PATNA : दो दिन से लखनऊ में एक युवती द्वारा कैब ड्राइवर को थप्पड़ मारे जाने की चर्चा हो रही है। अब बिहार की राजधानी पटना में भी एक युवती ने थप्पड़बाजी की घटना को अंजाम दिया है। अंतर सिर्फ इतना है कि थप्पड़ मारनेवाली महिला सिपाही है और थप्पड़ खानेवाला पुलिस का जवान है। जवाब में पुलिस के जवान ने महिला सिपाही से मारपीट शुरू कर दी। बीच सड़क पर पुलिसकर्मियों द्वारा शर्मसार करनेवाले मामले को लेकर विभाग ने भी तत्काल एक्शन लेते हुए दो महिला सिपाही और पुलिस जवान को सस्पेंड कर दिया है।

मामला पीरबहोर थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है।  जहां गांधी मैदान स्थित करगिल चौक पर दो दिन पहले हुए दोपहर साढ़े तीन बजे हुआ। ऑन ड्यूटी वर्दी पहने पुलिसवालों को आपस में भिड़ता देख वहां लोग जमा हो गए। जानकारी के अनुसार पेट्रोलिंगगाड़ी पर सवार पीरबहोर थाने के दारोगा को उनके रिश्तेदार ने बाइक चेकिंग में करगिल चौक के समीप पकड़े जाने की खबर दी। इस पर दारोगा अपने जवानों के साथ पहुंचे और पैरवी करने लगे। बाइक सवार तो छूट गया लेकिन पुलिसवालों के बीच बहस हो गयी। यह देख एक और महिला सिपाही वहां आ गयी और सिपाही धर्मेंद्र को धक्का दे दिया। अन्य जवान इस मामले को शांत ही करवा रहे थे कि तब तक झगड़ा कर रही महिला सिपाही ने एकाएक धर्मेंद्र को थप्पड़ जड़ दिया।

शुरू हो गई मारपीट 

बीच सड़क पर महिला सिपाही द्वारा थप्पड़ मारे जाने के बाद पुलिस जवान भी उससे उलझ गया और मारपीट शुरू कर दी। किसी तरह वहां मौजूद अन्य जवानों ने मामले को संभाला। लेकिन महिला सिपाही उग्र हो गयी और गश्ती गाड़ी पर डंडा चलाने लगीं।पुलिसवालों के बीच झगड़े की बात सुनकर बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन ने बीच-बचाव की कोशिश की। महिला सिपाही और पीरबहोर थाने के जवान के बीच समझौता करवाने की कवायद काफी देर तक चली। लेकिन दोनों के बीच समझौता नहीं हुआ।

एसएसपी ने किया सस्पेंड

इस पूरे प्रकरण में एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने दो महिला सिपाहियों स्वाति कुमारी, शालू व पीरबहोर थाने के सिपाही धर्मेंद्र चौधरी को सस्पेंड कर दिया है। उन्होंने कहा कि सभी पर विभागीय कार्रवाई की जायेगी।हालांकि इस बात को नजरअंदाज कर दिया गया कि चेकिंग के दौरान पकड़े गए बाइक चालक को छुड़ाकर दारोगा ने अपने ही सिपाहियों का मनोबल तोड़ने की कोशिश की, जो कहीं न कहीं इस विवाद का मुख्य कारण था।


Find Us on Facebook

Trending News