अब क्या कहेगी भाजपा, मोदी सरकार की रिपोर्ट में खुलासा बिहार में घट गया अपराध, पटना शीर्ष 10 से बाहर, गुजरात के दो शहर टॉप-5 में

अब क्या कहेगी भाजपा, मोदी सरकार की रिपोर्ट में खुलासा बिहार में घट गया अपराध, पटना शीर्ष 10 से बाहर, गुजरात के दो शहर टॉप-5 में

पटना. देश में सर्वाधिक अपराध वाले शहरों में दिल्ली पहले पायदान पर है. वहीं अपराधों की अधिकता वाले टॉप 5 शहरों की सूची में दिल्ली (वर्ष 2021 में कुल अपराध संख्या 18536) के बाद सूरत (16768), कोच्चि (16022), अहमदाबाद (15190) और चेन्नई (13247) का नंबर आता है. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की सालाना क्राइम इन इंडिया (सीआइआइ) -2021 के नाम से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि क्राइम के लिहाज से कोलकाता देश का सबसे सुरक्षित शहर है. सीआइआइ के आंकड़ों में दिल्ली में सबसे अधिक अपराध है. सीआइआइ ने देश के 19 शहरों का 2021 के आपराधिक आंकड़ों के आधार पर ब्यौरा तैयार किया है.

अपराध के आंकड़ों के अनुसार देश की आर्थिक राजधानी मुंबई 4285 अपराधों के साथ छठवें और देश के सबसे स्वच्छ शहरों में शुमार इंदौर 11071 अपराधों के साथ 14वें स्थान पर है. वहीं कोझिकोड 5158 अपराधों के साथ सातवें, लखनऊ 5909 अपराधों के साथ आठवें, कोयंबटूर 6494 अपराधों के साथ नौवें, गाजियाबाद 6989 अपराधों के साथ 10वें, पटना 8720 अपराधों के साथ 11वें, नागपुर 8921 अपराधों के साथ 12वें और जयपुर 10269 अपराधों के साथ 13वें स्थान पर है. 

यानी भले बिहार को लेकर यहां अपराध ज्यादा होने की बातें की जाती हों लेकिन पटना देश के टॉप 10 अपराध वाले शहरों की सूची में शामिल नहीं है. पटना इस सूची में 11वें स्थान पर है. आंकड़ों पर गौर करें तो भाजपा शासित गुजरात के दो शहर सूरत और अहमदाबाद टॉप-5 अपराध वाले शहर में हैं. वहीं सबसे ज्यादा हत्या और बलात्कार वाले शहर में कांग्रेस शासित राजस्थान के जयपुर और भाजपा शासित महाराष्ट्र के नागपुर का नंबर पहले दो स्थान पर आता है. 

इसके बाद नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले बिहार के पटना का आता है. हत्या और बलात्कार के मामलों में जयपुर में 38 हत्या और 345 बलात्कार के मामले वर्ष 2021 में दर्ज हुए. वहीं नागपुर में 38 हत्या और 94 बलात्कार हुआ. तीसरे नंबर पर पटना है जहां पिछले साल हत्या की 37 वारदात हुई जबकि बलात्कार की 31 घटनाएं घटित हुई. इस सूची में चौथे नंबर पर लखनऊ है जहाँ 35 हत्या और 70 बलात्कार हुए. दिल्ली में 28 हत्याएं हुई और 162 बलात्कार की घटना हुई. पांचवे नंबर पर सूरत  है जहाँ हत्या की 26 और बलात्कार की 26 घटनाएं सामने आई. सीआइआइ के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2021 में सबसे कम मर्डर और रेप कोझिकोड में हुए. यहां एक वर्ष में सिर्फ दो लोगों की हत्या हुई। जबकि 35 लड़कियों और महिलाओं के साथ बलात्कार हुआ. ऐसी में बिहार में नीतीश सरकर पर हमलावर रहने वाली भाजपा के लिए केंद्र के एनसीआरबी कि यह रिपोर्ट एक प्रकार से झटका है जो राज्य में जंगलराज की बातें कहकर सरकार हमलावर है. 

रिपोर्ट के अनुसार देश के 19 महानगरों में आर्थिक अपराध के मामले में वर्ष 2020 की तुलना में 2021 में 30.5 प्रतिशत की तेजी देखी गई. इसी तरह उद्योग-धंधों में फर्जीवाड़ा और धोखाधड़ी के मामले में पिछले साल इस तरह के दर्ज मामलों का प्रतिशत देश में 88.5 फीसदी रहा. वहीं वर्ष 2020 के मुकाबले 2021 में देश के बड़े शहरों में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध के मामलों में 22.9 फीसदी की तेजी आई. बच्चों के विरुद्ध होने अपराध में 2020 की तुलना में 2021 में 26.7 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई. 


Find Us on Facebook

Trending News