अफसरों-माफियाओं ने बालू से 'मलाई' निकाल मिल-बांट कर खाया, 'ब्रॉडसन' कंपनी ने बालू का ढेर ही कर दिया गायब, पुलिसिया जांच की गाड़ी रूकी

अफसरों-माफियाओं ने बालू से 'मलाई' निकाल मिल-बांट कर खाया, 'ब्रॉडसन' कंपनी ने बालू का ढेर ही कर दिया गायब, पुलिसिया जांच की गाड़ी रूकी

PATNA: बिहार में बालू की लूट में माफिया से लेकर अफसर तक शामिल थे। सरकार ने जब जांच कराई तो सब कुछ साफ हो गया। बालू से मलाई निकालने वाले कई बड़े अधिकारियों पर कार्रवाई की गई है। दो जिलों के एसपी के अलावे कई थानाध्यक्ष,एसडीओ व अन्य सरकारी सेवक नप गये । बालू के इस अवैध धंधे में ब्रॉडसन कंपनी ने भी बड़ा खेल किया है। नदी से बालू निकालकर स्टॉक करने वाली कंपनी ने भी बालू की लूट की है।  बालू खनन के लाईसेंसधारी कंपनी ने डेढ़ करोड़ रू के बालू के टीले की चोरी कर ली . बालू चोरी के खुलासे के बाद खनन विभाग ने 3 जुलाई को ब्रॉडसन कंपनी के खिलाफ बिहटा थाने में केस दर्ज कराया. बिहटा पुलिस ने खान निरीक्षक के आवेदन पर केस तो दर्ज कर लिया लेकिन जांच कहां तक बढ़ी यह पता नहीं।  

लाईसेंसधारी ही निकला चोर!

पटना के खान निरीक्षक ने लाईसेंसधारी मे. ब्रॉडसन कॉमेडिटीज जिसका बिहटा के आनंदपुर में बालू भंडार का अनुज्ञप्ति था उसके खिलाफ बिहटा थाने में केस दर्ज कराया. थाने में दिये आवेदन में खान निरीक्षक राजेन्द्र कुमार सिंह ने उल्लेख किया है कि 27 जून को लाईसेंसधारी के बालू स्टॉक की जांच की गई। भौतिक सत्यापन के दौरान अनुज्ञप्ति स्थल पर बालू की मात्रा शून्य पाई गई। जबकि पीएमयू के द्वारा उपलब्ध प्रतिवेदन में वहां पर बालू की उपलब्धता थी। ऐसे में यह स्पष्ट होता है कि लाईसेंसधारी ने बिना प्रीपेड ई-चालान निर्गत किये बालू का विक्रय कर दिया। लाईसेंसधारी ने बालू चोरी कर कंडिका 1,12,13, एवं 15 का उलंघन किया है जो दंड़नीय अपराध है। लाईसेंसधारी के इस कृत्य से सरकार को 1 करोड़ 49 लाख 40 हजार रू के राजस्व की क्षति हुई है। 

ये भी पढ़ें--- बालू की 'मलाई' खाने में हटाये गये 'MVI' पर कई संगीन आरोप, जाली कागजात पर 'नौकरी' मामले की चल रही सुनवाई

ब्रॉडसन कंपनी ने सरकार को लगाया चूना

खान निरीक्षक राजेन्द्र कुमार सिंह ने बिहटा थाने में दर्ज करने के लिए दिये आवेदन में लाईसेंसधारी के कर्मियों-संचालकों के विरूद्ध आईपीसी की  धारा-378,379,411,420 के तहत केस दर्ज करने का अनुरोध किया। इसके बाद बिहटा पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। खान निरीक्षक ने कर्मियों की सूची भी बिहटा थाने को दिया है।हालांकि बिहटा पुलिस की जांच कहां तक पहुंची इसकी जानकारी प्रभारी थानाध्यक्ष को नहीं है। बालू के अवैध में संलिप्तता  उजागर होने पर बिहटा थानाध्यक्ष को हटा दिया गया है। प्रभारी थानाध्यक्ष से बालू टीले की चोरी केस की जांच के संबंध में पूछा गया तो उन्हें इस केस के बारे में जानकारी नहीं थी।  

 बता दें ब्रॉडसन कंपनी ने 1 मई 2021 से पटना समेत पांच महत्वपूर्ण जिलों में बालू का खनन बंद कर दी थी। इस वजह से सोन-गंगा में बालू का अवैध खनन बढ़ गया. बालू माफिया खुल्लम-खुल्ला बालू खनन कर बाजार में बेच रहे। इससे सरकार को हर महीने करोड़ों का नुकसान हो रहा। हालांकि 1 जुलाई से आधिकारिक तौर पर बालू खनन का कार्य बंद हो गया है। 



Find Us on Facebook

Trending News