राजाओं के परिवार में सत्ता के लिए भाईयों में लड़ाई होने की पुरानी परंपरा, यह कोई नई बात नहीं, लालू परिवार में मचे कलह पर भाजपा ने ली चुटकी

राजाओं के परिवार में सत्ता के लिए भाईयों में लड़ाई होने की पुरानी परंपरा, यह कोई नई बात नहीं, लालू परिवार में मचे कलह पर भाजपा ने ली चुटकी

PATNA : उपचुनाव में मिली हार के बाद लालू परिवार की आतंरिक कलह खुलकर सामने आ गई है। लालू के बड़े बेटे खुलकर इसके लिए राजद के कुछ नेताओं और उनकी गलत नीतियों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। यहां तक कि अपने छोटे भाई के नेतृत्व पर भी अब सवाल उठाने लगे हैं। इन सबके बीच लालू परिवार में मची कलह का विरोध पार्टियों जमकर आनंद उठा रही हैं और उनपर तंज कसने से भी नहीं चूक रहे हैं। 

लालू परिवार में छिड़ी जंग को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल भी तंज कसने से नहीं चूके। बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक की तैयारी में जुटे डॉ जायसवाल से जब पोस्टर में तेजस्वी को अहंकारी बताए जाने को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने इसे राजपरिवारों की परंपरा से जोड़ दिया। उन्होंने कहा कि राजपरिवारों में ऐसा होना कोई नई बात नहीं है। इतिहास गवाह रहा है कि राजपरिवारों में सत्ता के लिए भाई भाई के बीच झगड़ा होता रहा है। अब भी यही हो रहा है। राजद लालू परिवार के लिए सत्ता की गद्दी की तरह है। अब उस गद्दी के लिए उनके बेटों में झगड़ा हो रहा है।

गौरतलब है कि पटना में कई जगहों पर एक पोस्टर लगाया गया है। जिसमें अर्जुन बने तेजस्वी को मछली की आंखें नजर ही नहीं आ रही हैं। वहीं दूसरी तरफ कृष्ण बने तेज प्रताप उन्हें अहंकार त्यागकर देखने की सलाह दे रहे हैं। माना जा रहा है कि यह पोस्टर तेज प्रताप के समर्थकों की तरफ से तेजस्वी यादव सहित दूसरे राजद नेताओं के खिलाफ लगाया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News