केस को पेंडिंग रखने वाले आईओ रडार पर, 3 दिन के अंदर डायरी नहीं देने पर होगी कार्रवाई

केस को पेंडिंग रखने वाले आईओ रडार पर,  3 दिन के अंदर डायरी नहीं देने पर होगी कार्रवाई

PATNA : आईओ के सुस्त रवैया की वजह से जहां एक तरफ पेंडिंग मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, वही पुलिस पदाधिकारी भी बुरी तरह परेशान है।

गौरतलब है कि सिर्फ पटना मध्य क्षेत्र में करीब आठ हजार केस पेंडिंग पड़े हैं और पीड़ित लगातार पुलिस पदाधिकारियों और आईओ से मिलकर पेंडिंग मामलों का जल्द से जल्द अनुसंधान   करने का गुहार लगा रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद आईओ साहब सुनने का नाम नहीं ले रहे। पेंडिंग के बढ़ते मामलात को देखते हुए सिटी एसपी मध्य विनय तिवारी ने वैसे आईओ पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है जो जानबूझकर केस को पेंडिंग रखने में माहिर हैं।

सिटी एसपी विनय तिवारी ने पटना मध्य रेंज के अंतर्गत आने वाले सभी थानों के थानेदार डीएसपी व केस आईओ को 3 दिनों के अंदर डायरी पूरी कर सिटी एसपी मध्य कार्यालय को सौंपने का आदेश दिया है।  

सिटी एसपी मध्य ने बताया इसके लिए गांधी मैदान स्थित पुलिस मुख्यालय में सेंट्रल इन्वेस्टिगेशन रूम बनाया गया है।  जहां आईओ अपने केस इससे संबंधित सभी साक्ष्य को लेकर आएंगे और कार्यालय में बैठकर ही डायरी तैयार करेंगे।

गौरतलब है कि पटना मध्य में 8000 से ज्यादा पेंडिंग मामले हैं, जिसे 3 महीने के अंदर निपटाने का आदेश दिया गया है।

बता दें की एफ आई आर दर्ज होने के बाद कई दफा महीनों तक आयोग के इस डायरी को कोर्ट में पेश नहीं कर पाते उसका परिणाम होता है कि पीड़ित को न्याय नहीं मिल पाता।

केस डायरी तैयार करने के नए नियम के अनुसार अगर सही समय पर किस डायरी उपलब्ध नहीं कराया जाता है तो इसका जिम्मेदार संबंधित थाने का थानाध्यक्ष और आईओ होगा। इतना ही नहीं केस डायरी सही समय पर तैयार नहीं करने पर कार्रवाई के तौर पर प्राथमिकी भी दर्ज की जाएगी। 

Find Us on Facebook

Trending News