रामचरित मानस पर शिक्षा मंत्री के विवादित बयान पर फिर मुख्यमंत्री ने दिया रटा-रटाया जवाब - मुझे कुछ पता ही नहीं है, कौन क्या बोला

रामचरित मानस पर शिक्षा मंत्री के विवादित बयान पर फिर मुख्यमंत्री ने दिया रटा-रटाया जवाब - मुझे कुछ पता ही नहीं है, कौन क्या बोला

DARBHANGA : बिहार के मुख्यमंत्री सूबे में होनेवाली किसी घटना के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं रखते हैं। यह हम नहीं बल्कि खुद हाल के दिनों में नीतीश कुमार के बयानों से जाहिर हुआ है। बिहार में लगातार घटनाएं हो रही है, लेकिन हर बार नीतीश कुमार यह कहकर पल्ला झाड़ लेते हैं कि वह इस बारे में कुछ नहीं पता है। ताजा मामला नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर से जुड़ा है। जिन्होंने नालंदा यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में रामचरित मानस को नफरत फैलानेवाला ग्रंथ बताया। उनके इस बयान पर जहां विपक्ष के तमाम नेता हमलावर है। धर्मगुरू उनके खिलाफ उतर गए हैं। शिक्षा मंत्री के इस्तीफे से लेकर उन पर राजद्रोह का केस दर्ज करने की मांग की जा रही है। उन्हें पागलखाने भेजने की मांग की जा रही है। वहीं बिहार के मुख्यमंत्री ने इस पूरे मामले पर दो लाइन में कह दिया कि वह इस बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं।

ऐसा नहीं है कि मुख्यमंत्री ने पहली बार यह लाइन दोहराई है। पिछले कुछ दिनों में लगातार नीतीश कुमार यह बात कह रहे हैं। बिहार में समाधान यात्रा पर निकाले नीतीश कुमार से कुछ दिन पहले पटना में छात्रों पर पुलिस की लाठी चार्ज पर यह कहा था कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि पटना में ऐसा कुछ हुआ है। बुधवार को बक्सर में किसानों पर लाठी चार्ज पर ऐसा ही बयान सामने आया और दरभंगा पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिक्षा मंत्री के बयान पर भी वही लाइन दोहरा दी है। मुख्यमंत्री का यह बयान बताता है कि इस पूरे मसले से पल्ला झाड़कर बचना चाहते हैं। 

भारत जोड़ो यात्रा पर थे अंजान

ऐसा नहीं है कि सिर्फ घटनाओं को लेकर ही नीतीश कुमार अंजान बने रहते हैं। पिछले सप्ताह बांका से शुरू हुए भारत जोड़ो यात्रा को लेकर भी उन्होंने कहा था कि इस बारे में वह कुछ नहीं जानते हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News