13 सितंबर को पीएम मोदी फिर देंगे एक बड़ी सौगात, बिहार के हर घर में आएगी खुशहाली

13 सितंबर को पीएम मोदी फिर देंगे एक बड़ी सौगात, बिहार के हर घर में आएगी खुशहाली

PATNA: पीएम मोदी एक बार फिर से बिहार को बड़ी सौगात देने वाले हैं।प्रधानमंत्री 13 सितंबर को पारादीप-मुजफ्फरपुर एलपीजी पाइपलाइन परियोजना के अंतर्गत हरसिद्धि (पूर्वी चंपारण ) में एचपीसीएल के एलपीजी प्लांट के साथ दुर्गापुर-बांका क्षेत्र में इंडियन ऑयल के नवनिर्मित बांका एलपीजी बॉटलिंग प्लांट को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।इस मौके पर राज्यपाल फागू चौहान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी मौजूद रहेंगें. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 सितंबर 2020 को वर्चुअल माध्यम से इस महत्वपूर्ण योजना का उद्घाटन करेंगे।

पटना में मीडिया से बात करते हुए कार्यकारी निदेशक और राज्य प्रमुख बिहार राज्य कार्यालय इंडियन आयल राज्य स्तरीय समन्वयक तेल विपणन कंपनी की तरफ से विभास कुमार ने बताया कि पारादीप-मुजफ्फरपुर एलपीजी पाइपलाइन परियोजना के अंतर्गत पूर्वी चंपारण के हरसिद्धि में एचपीसीएल के एलपीजी प्लांट के साथ दुर्गापुर बांका क्षेत्र में इंडियन ऑयल के बांका एलपीजी प्लांट का राष्ट्र के प्रति समर्पण किया जाना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बांका एवं हरसिद्धि में वर्चुअल माध्यम से प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के लाभार्थियों से भी बातचीत करेंगें।

बांका बिहार आईओसीएल में नया एलपीजी बॉटलिंग प्लांट 

131.75 करोड़ की कुल परियोजना लागत से भागलपुर-हंसडीहा रोड (SH-19) (भागलपुर और बांका के बीच) बिहार में 120 टीएमटी पिए क्षमता वाला एलपीजी बॉटलिंग प्लांट , प्लांट की वाटलिंग क्षमता 40000 सिलेंडर प्रतिदिन है.यह प्लांट बिहार के भागलपुर बांका जमुई अररिया किशनगंज और कटिहार जिले तथा झारखंड के गोड्डा देवघर दुमका साहिबगंज और पाकुड़ जिलों में सिलेंडर की आपूर्ति होगी। लगभग 500 व्यक्तियों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार का अवसर भी प्रदान किया जाएगा। 

चंपारण में नया एलपीजी प्लांट (हरसिद्धि) बिहार (एचपीसीएल)

136.4 करोड़ की कुल परियोजना लागत से पूर्वी चंपारण जिले के हरसिद्धि में 120 एमटीपीए क्षमता वाला एलपीजी बॉटलिंग प्लांट।प्लांट वाटरिंग क्षमता 40000 सिलेंडर प्रतिदिन है ।यह प्लांट पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, मुजफ्फरपुर, सिवान, बिहार में गोपालगंज और सीतामढ़ी और उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में 5 लाख से अधिक उपभोक्ताओं को सेवा प्रदान करता है।लगभग 500 व्यक्तियों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार का अवसर दिया जाएगा।

पाइपलाइन परियोजना का दुर्गापुर बांका खंड 

193 किलोमीटर लंबी दुर्गापुर बांका पाइपलाइन खंड, जिसका शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 17 फरवरी 2019 को किया गया था। पारादीप-मुजफ्फरपुर, एलपीजी पाइपलाइन का एक हिस्सा है। इस खंड की क्षमता 2.1 मिलियन मिट्रीक टन है, और इसका निर्माण 441 करोड़ की लागत से जुलाई 2020 में पूरा हुआ। 

बिहार में एलपीजी परिदृश्य 

वर्तमान में आईओसीएल एचपीसीएल और बीपीसीएल के बिहार में 13 बॉटलिंग प्लांट है।अप्रैल 2016 में प्रतिदिन की बॉटलिंग क्षमता महज 98 हजार सिलेंडर थी जो 2.58 लाख सिलेंडर प्रतिदिन हो गया है। अप्रैल 2014 में वार्षिक  बॉटलिंग क्षमता प्रतिवर्ष 296 लाख सिलेंडर प्रति वर्ष से बढ़ाकर अगस्त 2020 तक 782 लाख प्रति सिलेंडर हो गई है। बिहार में 2016 में शुरू होने के बाद से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से पचासी दशमलव 33 लाख महिला ग्राहक लाभान्वित हुई है। मोतिहारी में इंडियन ऑयल बॉटलिंग प्लांट का निर्माण चल रहा है और भोजपुर के गिद्धा में 120 एमटीपीए से 270 एमटीपीए तक का एक प्रमुख क्षमता संवर्धन अंतिम चरण में है। 

एलपीजी बॉटलिंग प्लांट की 2 खबरें सैकड़ों युवाओं और मजदूरों को प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से राष्ट्रव्यापी गरीब परिवारों में आठ करोड़ मुफ्त एलपीजी कनेक्शन पहुंचाने के महत्वकांक्षी प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के सफल कार्यान्वयन हेतु दो प्रमुख बॉटलिंग प्लांट की स्थापना एवं छपरा में अभिवृद्धि परिकल्पित की गई। बिहार में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की शुरुआत मई 2016 से ही सरकार द्वारा प्रदान किए गए 1366 करोड़ के कुल खर्च से कुल 84.91 लाख कनेक्शन प्रदान किए गए। अप्रैल 2014 में कुल परिवार का सिर्फ 25.05% में ही एलपीजी था। जो अब अगस्त 2020 के अंत तक बढ़कर 76.9% हो गया है। परिणाम स्वरूप घरेलू एलपीजी के कुल सक्रिय उपभोक्ता अप्रैल 2014 में 51.2 लाख से बढ़कर 180 लाख हो गया है।

महामारी कोविड-19 की वजह से गरीब परिवार के सामने आने वाली कठिनाई को देखते हुए पीएम मोदी द्वारा शुरू किए गए पीएमजी जिसके तहत बिहार में 1.2 करोड़ मुफ्त एलपीजी रिफिल उज्जवला योजना के लाभार्थियों को प्रदान किया गया जिसके अंतर्गत 1111 27 करोड़ सीधे उपभोक्ताओं के खाते में स्थानांतरित किए गए हैं। एलपीजी बॉटलिंग आधारिक संरचना में सुधार में तेल कंपनियों को एलपीजी उपभोक्ताओं को बेहतर तरीके से स्थान तक पहुंचाने में सक्षम बनाया है और एलपीजी उनकी आवश्यकताओं के अनुसार उन्हें आसानी से उपलब्ध होगा पीएम द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना एवं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना जैसी दूरदर्शी योजनाओं से बिहार के लोग विशेष रुप से गरीब परिवारों के लोग लाभान्वित हुए हैं।

इस मौके पर इंडियन ऑयल से उदय कुमार, महाप्रबंधक, प्रभारी, एलपीजी बिहार राज्य कार्यालय, एस के नंदी,  मुख्य महाप्रबंधक(विनिर्माण), आईओसीएल-ईआरपीएल विनिर्माण एच पीसीएल से अमूल्य के दास, डीजीएम (आार एस , एचपीसीएल) मीडिया से रूबरू हुए। 

Find Us on Facebook

Trending News