नीतीश पर सुधाकर सिंह के तीखे हमलों पर ललन ने राजद को दे दिया सुझाव, गंगा में जहाज बाद में चलाएं पहले मोदी करें यह काम

नीतीश पर सुधाकर सिंह के तीखे हमलों पर ललन ने राजद को दे दिया सुझाव, गंगा में जहाज बाद में चलाएं पहले मोदी करें यह काम

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ तीखी बयानबाजी कर रहे पूर्व मंत्री और राजद विधायक सुधाकर सिंह को लेकर जदयू कुछ भी सार्वजनिक रूप से नहीं कहेगी बल्कि यह मुद्दा राजद का आंतरिक मामला है. जदयू अध्यक्ष ललन सिंह से मंगलवार को सुधाकर सिंह के हालिया बयानों को लेकर जब सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर हम मीडिया में कुछ नहीं कहेंगे. यह राजद का आंतरिक मामला है. इस पर बात महागठबंधन के दलों में होगी. दरअसल, सुधाकर सिंह ने हाल के दिनों में कई बार नीतीश कुमार का नाम लेकर कई प्रकार की ऐसी टिप्पणियां की जिसे जदयू के नेताओं ने आपत्तिजनक बताया. इसी को लेकर ललन सिंह से सवाल किया गया था जिस पर उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया. 

वहीं गंगा नदी में नौवहन शुरू करने की केंद्र की योजना पर ललन सिंह ने कहा कि गंगा में पहले गाद प्रबंधन की आवश्यकता है. गंगा में गाद की जो स्थिति है उससे जहाज के सुचारू रूप से चलने में परेशानी होगी. उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों जब गंगा नदी का जलस्तर बढ़ता है तब बक्सर से पटना आने में पानी को जितना समय लगता है उससे तीन गुणा अधिक समय पटना से साहेबगंज और फरक्का पहुंचने में लगता है. ऐसे में नदी में नौवहन के पहले गाद प्रबंधन की जरूरत है. 

केंद्र की मोदी सरकार पर नीतीश कुमार के कामों का अनुसरण करने की बात करते हुए उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने जीविका शुरू की तो मोदी ने उसे ही आजीविका नाम देकर देश में लागू किया. नीतीश कुमार ने नल-जल योजना की शुरुआत की. उसे ही 2019 में पीएम मोदी ने लागू किया. यहां तक कि पीएम मोदी ने नीतीश कुमार को कहा कि आप कुछ पैसे लेकर बिहार की नल-जल योजना को केंद्र के नाम कर दें. 

ललन ने कहा कि नीतीश कुमार में प्रधानमंत्री बनने की सारी योग्यता मौजूद है. इसे ही वे हमेशा दोहराते हैं. लेकिन वर्ष 2024 में सभी पार्टियाँ मिलकर तय करें कि कौन देश का पीएम बनेगा. उन्होंने भाजपा पर बिहार की महागठबंधन सरकार को लेकर कई प्रकार की भ्रामक बातें करने का आरोप लगाया. 


Find Us on Facebook

Trending News