नालंदा में पिता की पुण्यतिथि पर बेटे ने करवाया बार बालाओं का नृत्य, फूहड़ गीतों पर ठुमके लगाते रहे ग्रामीण

नालंदा में पिता की पुण्यतिथि पर बेटे ने करवाया बार बालाओं का नृत्य, फूहड़ गीतों पर ठुमके लगाते रहे ग्रामीण

नालंदा. किसी पिता के मरने के बाद उनके पुत्र द्वारा पिता की आत्मा की शांति के लिए उसके अस्थि कलश को गंगा में विसर्जन कर भगवान से प्रार्थना की जाती हैं। लेकिन नालंदा जिले के बिंद प्रखंड के जमसारी पंचायत के गोविंदपुर गांव में एक कलयुगी पुत्र ने अपने पिता की पुण्यतिथि के मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम के नाम पर बार बालाओं के ठुमके की व्यवस्था कर दी थी। मौके पर संवेदना व्यक्त किए जाने की जगह बार बालाओं द्वारा फूहड़ गीतों पर ग्रामीण रात ठुमके लगाने में व्यस्त रहे।

हालांकि पुण्यतिथि के मौके पर मुख्य कार्यक्रम प्रतिमा का अनावरण था, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय जनता दल के प्रवक्ता व हिलसा के पूर्व विधायक शक्ति सिंह यादव, जदयू के राष्ट्रीय महासचिव इंजीनियर सुनील शामिल हुए।प्रतिमा का अनावरण कर लोगों को संबोधन के बाद जब ये लोग चले गये, उसके बाद उसी मंच पर रात भर नर्तकियों के द्वारा अश्लील गानों पर डांस करवाया गया। आयोजक राजद नेता अजय यादव के पिता बोधी यादव की साल भर पहले मौत हो गयी थी। उनके याद में गोविंदपुर गांव में प्रतिमा बनवाया गया।

जिले में यह कोई पहला मामला नहीं है। इसके पूर्व भी पूण्यतिथि के मौके पर बार बालाओं का डांस करवाया गया था। सांस्कृतिक कार्यक्रम के नाम पर फहुड़ गानों बार बालाओं के ठुमके लगवाने से समाज में गलत संदेश जाता है। ऐसे मौके पर लोग संवेदना व्यक्त करने आते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News