मोतिहारी में मरीज की मौत पर परिजनों ने अस्पताल में किया हंगामा, निजी हॉस्पिटल के कर्मियों ने पुलिस के सामने ही दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

मोतिहारी में मरीज की मौत पर परिजनों ने अस्पताल में किया हंगामा, निजी हॉस्पिटल के कर्मियों ने पुलिस के सामने ही दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

मोतिहारी. मरीज की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया है। मिली जानकारी के अनुसार मरीज की स्थिति का सही जबाव नहीं मिलने से परिजन आक्रोशित हो गये। वहीं इस बीच पूछताछ के दौरान अस्पताल कर्मियों के दुर्व्यवहार ने परिजनों को और आक्रोशित कर दिया और परिजनों ने अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की। वहीं तोड़फोड़ के दौरान अस्पताल कर्मियों ने परिजनों को सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर का पीटा। इसमें कई लोगों को गम्भीर चोटे आयी हैं।

बताया जाता है कि कल्याणपुर के अलौरा गांव निवासी जमालुद्दीन तेज बुखार से पीड़ित था। जिसे परिजनों ने बेहतर इलाज के लिए मोतिहारी के निजी अस्पताल रहमानिया मेडिकल में भर्ती कराया था। यहां डॉक्टर ने इलाज के दौरान कई टेस्ट कराये और मरीज के परिजनों को शीघ्र स्वस्थ होने का संतावना देते रहे। लेकिन आज अस्पताल प्रबंधन ने एकाएक प्लेटलेट के डाउन होने की बात कह मौत हो जाने की जानकारी दी। जिससे परिजन आक्रोशित होकर मरीज की मौत के कारणों को जानना चाहा। इस पर अस्पताल के कर्मी परिजनों पर टूट पडे़। बातचीत और बहस के दौरान अस्पताल कर्मियों ने लाठियां बरसाना शुरू कर दिया। परिजनों की पिटाई और सड़क पर खदेड़ दिया गया। इस दौरान अस्पताल प्रबंधन ने छतौनी थाना पुलिस को सूचित कर बुला लिया। पुलिस की मौजूदगी में अस्पताल कर्मियों ने मृतक के परिजनों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा। 

मृतक के भाई रोजिद आलम ने बताया कि चार दिनों से अस्पताल के कर्मी मरीज के ठीक होने की बात कह तरह-तरह की जांच काराया और रुपये लेते रहे। आज एकाएक डेंगू होने और प्लेटलेट के कम होने की बात बतायी और थोड़ी देर बाद मरने की सूचना दी। भाई रोजिद आलम ने कहा कि मेरे भाई को पैसों के लिए मार दिया गया है। बार-बार पूछने पर कहा जाता रहा कि ठीक हो जाएगा और दूसरी जगह इलाज कराने से रोका गया। मरने के बाद अस्पताल के कर्मी गुंडई पर उतार आये और परिजनों के साथ मारपीट की।

वहीं अस्पताल के प्रबंधक डॉ. केएन सिंह का कहना है कि मरीज की मौत के बाद परिजन अस्पताल में हंगामा करने लगे और तोड़फोड़ भी करने लगे। अस्पताल पर मरीज की स्थिति की जानकारी नहीं देने पर प्रबंधक ने कहा कि फाईल देखने के बाद ही कुछ बोला जा सकता है।


Find Us on Facebook

Trending News