मानसून सत्र के अंतिम दिन पक्ष-विपक्ष का विधान सभा परिसर में हंगामा, दोनो के रहे अपने-अपने मुद्दे

मानसून सत्र के अंतिम दिन पक्ष-विपक्ष का विधान सभा परिसर में हंगामा, दोनो के रहे अपने-अपने मुद्दे

Ranchi  : झारखंड विधानसभा मानसून सत्र के अंतिम दिन आज सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ने विरोध प्रदर्शन किया। एक तरफ जहां सत्ता पक्ष किसान बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रही थी, तो वही विपक्ष नियोजन नीति, युवाओं के रोजगार जैसे मुद्दे पर विरोध कर रही थी। 

विधानसभा के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे बीजेपी विधायक अमर कुमार बाउरी ने हेमंत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पूर्ववर्ती सरकार के द्वारा दिए गए नौकरी को भी सरकार बचा नहीं पा रही है।  झारखंड हाई कोर्ट ने सरकार के द्वारा मजबूती से पक्ष नहीं रखा गया, जिसके कारण 18000 हाई स्कूल शिक्षकों की नियुक्ति को रद्द करने का फैसला आया है। हेमंत सरकार के द्वारा झारखंड हाईकोर्ट में मजबूती से पक्ष नहीं रखने के कारण आज युवा बेरोजगार हो गए हैं। उन युवाओं के साथ भारतीय जनता पार्टी हमेशा खड़ा रहेगी।

वहीं केंद्र सरकार के कृषि विधेयक का विरोध करते सत्ता पक्ष के विधायक मिथलेश ठाकुर ने केंद्र सरकार के द्वारा लागू किए गए कृषि बिल को काला कानून बताया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हर एक चीज को निजीकरण कर दी है। अब जो खेती किसानी बची हुई थी उसे भी बड़े उद्योगी और कॉर्पोरेट घराने को हाथों में चली जायेगी। य़ह कानून किसान विरोधी है।  

रांची से मो. मोईजुद्दीन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News