तीसरे चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन नेताओं ने झोंकी ताकत,मधेपुरा के रण में त्रिकोणीय मुकाबले में फंसे शरद यादव

तीसरे चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन नेताओं ने झोंकी ताकत,मधेपुरा के रण में त्रिकोणीय मुकाबले में फंसे शरद यादव

PATNA : तीसरे चरण के चुनाव प्रचार का आज अंतिम दिन है। अंतिम दिन सभी नेताओं ने अपने प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। बिहार की 5 लोकसभा क्षेत्र झंझारपुर सुपौल अररिया मधेपुरा और खगड़िया में आज शाम चुनाव प्रचार समाप्त हो रहा है। इन पांच लोकसभा क्षेत्रों में 23 अप्रैल को मतदान कराए जाएंगे।

मधेपुरा की सीट सबसे हॉट 

इन 5 लोकसभा क्षेत्र में मधेपुरा की सीट सबसे हॉट है ।वहां से शरद यादव चुनाव मैदान में हैं। शरद यादव को जिताने के लिए तेजस्वी यादव ने पूरी ताकत झोंक दी है तेजस्वी यादव बीती रात मधेपुरा में ही रात में आए थे और वहां शरद यादव के लिए हर मुमकिन कोशिश की थी तेजस्वी यादव के अलावे महागठबंधन के अन्य नेता भी उपेंद्र कुशवाहा और कांग्रेस के कई बड़े नेता मधेपुरा में कई जनसभा कर चुके हैं। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी आज अंतिम दिन भी मधेपुरा में चुनाव प्रचार करेंगे ।

12 दिन से मधेपुरा में जमे थे नीतीश कुमार

वहीं दूसरी ओर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछले 12 दिनों से मधेपुरा में कैंप किए हुए हैं वे रात मधेपुरा में भी करते हैं और दिन में आसपास के संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रचार करते हैं। हालांकि आज शाम वे पटना लौट जाएंगे। वे मधेपुरा में अपने धुर विरोधी शरद यादव को हराने के लिए अब तक कई जनसभा कर चुके हैं। मधेपुरा के चुनावी मैदान में शरद यादव को कैसे शिकस्त दी जाए इस पर नीतीश कुमार की पैनी नजर थी।

हालांकि शरद यादव मधेपुरा के रण में गुणात्मक मुकाबले में फंस गए हैं।  पप्पू यादव के चुनाव मैदान में उतरने के बाद मधेपुरा में त्रिकोणीय लड़ाई हो गई है।

सुपौल में भी स्थिति कुछ ऐसी ही बन गई है। सुपौल से महागठबंधन उम्मीदवार कांग्रेस के उम्मीदवार हैं रंजीता रंजन। उनके खिलाफ राजद नेताओं ने बगावत किया हुआ है। तेजस्वी यादव ने भी पूरी तरह से दूरी बना ली है। आज शाम चुनाव समाप्त हो जाएगा लेकिन तेजस्वी यादव ने 1 दिन भी उस क्षेत्र में चुनाव प्रचार के लिए नहीं गए। वे सीमांचल की सभी सीटों पर चुनाव प्रचार के लिए तो गए लेकिन सुपौल से दूरी बनाए रखी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को आए थे और रंजीता रंजन के लिए वोट मांगा लेकिन उस कार्यक्रम से भी तेजस्वी यादव ने दूरी बना लिया।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News