बालू माफिया पर एकबार फिर 'लेडी सिंघम' का कहर, गंगा घाट पर की छापेमारी मचा हड़कंप

बालू माफिया पर एकबार फिर 'लेडी सिंघम' का कहर, गंगा घाट पर की छापेमारी मचा हड़कंप

PATNA: पटना जिले के दियारा इलाके में अवैध बालू के कारोबार करने वाले माफियाओं पर एकबार फिर बाढ़ अनुमंडल में पदस्थापित एएसपी लिपि सिंह कहर बनकर टूटी हैं। महज 48 घंटे के अंदर दूसरी बार लिपि सिंह द्वारा की गई छापेमारी के बाद बालू माफियाओं में हड़कंप मचा है। अवैध बालू खनन में लगे कई मजदूरों को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। 

मिली जानकारी के अनुसार आज बाढ़ एएसपी लिपि सिंह को सूचना मिली की मोकामा के मरांची, हथीदह और दरियापुर इलाके में अवैध बालू की खनन की जा रही है। सूचना मिलते ही लिपि सिंह ने फौरन उक्त इलाके में छापेमारी की। इस दौरान बालू खनन में लगे दर्जन भर मजदूरों के साथ एक पोकलेन और चार ट्रैक्टर को जब्त किया गया है। 

लिपि सिंह ने बताया कि हिरासत में लिए गये मजदूरों से पूछताछ के बाद उन्हें नोटिस देकर छोड़ दिया जाएगा वहीं मजदूरों से मिली जानकारी के आधार पर अवैध खनन करवा रहे बालू माफियाओं पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की जायेगी। 

बता दें कि बालू माफिया पर लेडी आईपीएस लिपि सिंह कहर बनकर टूट रही हैं। दियारा इलाके में पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है। पिछले दिनों टाल इलाके के भदौर थाना क्षेत्र अंतर्गत चकजलाल गांव में मुहाने नदी में अवैध मिट्टी और बालू खनन की शिकायत मिलने पर एएसपी द्वारा छापामारी की गई थी।  नदी में अवैध रूप से चल रहे बालू खनन पर पुलिस ने पहरा लगा दिया था।

पुलिस ने दियारा के कई ठिकानों पर दबिश देते हुए अवैध खनन में जुटे लोगों को भी धर दबोचा था।  इससे पहले लोकसभा चुनावों से पूर्व मोकामा, हाथीदह,  मरांची समेत अवैध खनन के कई ठिकानों पर दबिश देकर आईपीएस लिपि सिंह ने बालू माफिया को अंडरग्राउंड होने पर मजबूर कर दिया था।

2015 बैच की आईपीएस अफसर लिपि सिंह जदयू के राज्‍यसभा सांसद आरसीपी सिंह की बेटी हैं। इससे पहले उनकी तैनाती पटना सदर में थी। जिसके बाद उन्हें बाढ़ अनुमंडल में एएसपी के पद पर तैनात किया गया था। लोक सभा चुनावों में लिपि सिंह के ऊपर आरोप लगने के बाद चुनाव तक उन्हें वहां से हटा दिया गया था। चुनाव के बाद लिपि सिंह की फिर से उसी जगह पोस्टिंग की गई है। 

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News