चोरी के पैसे से सड़क बनवाने पर खर्च कर दिए एक करोड़, कैंसर पीड़िता बच्ची के इलाज पर खर्च किए 20 लाख रूपए, नए जमाने के रॉबिन हुड के बारे में जानकर हो जाएंगे हैरान

चोरी के पैसे से सड़क बनवाने पर खर्च कर दिए एक करोड़, कैंसर पीड़िता बच्ची के इलाज पर खर्च किए 20 लाख रूपए, नए जमाने के रॉबिन हुड के बारे में जानकर हो जाएंगे हैरान

SITAMADHI : पंचायत चुनाव में अपनी जीत  सुनिश्चित करने के लिये लोग कई तरह के काम करते हैं, लेकिन सीतामढ़ी में जिला पंचायत चुनाव में अपनी पत्नी को जीत दिलाने के लिए सात गांव में सड़क निर्माण करवा दिया। जिस पर उसने एक करोड़ रुपए खर्च कर डाले। अपने पड़ोस में रहने वाली एक गरीब लड़की के कैंसर के ऑपरेशन पर उसने 20 लाख रुपये खर्च किए थे। जिस तरह उसने गांव के विकास के काम किए, लोगों के लिए वह भगवान बन गया। 

लेकिन इस कहानी का एक दूसरा पहलू भी है। सीतामढ़ी जिला पंचायत चुनाव में हाल में जमानत पर छूट कर आई गुलशन परवीन प्रत्याशी के रूप में खड़ी है। लेकिन उनसे चर्चा पति इरफान की हो रही है। जहां गांव में उसे सम्मान दिया जाता है। जिस तरह के काम उसने किए, उसकी तारीफ करते हैं। लेकिन इरफान के पास इतने पैसे कहां से आए, इसकी सच्चाई भी सामने आ गई है। 

ग्रामीण बताते हैं कि मो. इरफान व उसका परिवार पहले मजदूरी करता था। रहने के नाम पर बस एक झोपड़ी थी। काम नहीं मिलने पर खाने को लाले पड़ जाते थे। माली हालत सुधारने के लिए वह घर छोड़कर चला गया, लेकिन जब वापस आया तो उसका रुतबा ही बदल गया था। गांव वालों को वह अपने काम के बारे में कुछ नहीं बताता था। गांव आते ही जमीन खरीदकर घर बनाया। फिर एक से एक महंगी बाइक खरीदी और गांव के कुछ युवकों को साथ घुमाने लगा।  लोगों की नजरों में वह पैसेवाला आदमी बन गया था

दरअसल, सीतामढ़ी का रहनेवाले इरफान देश का सबसे शातिर चोर है। वह करोड़ों रुपये कीमत की जैगुआर कार से देशभर मेंघूम-घमकर आलीशान कोठी-बंगलों मेंचोरी करने निकलता था। बिहार के सीतामढ़ी के रहने वाले इस चोर की तलाश 12 राज्यों की पुलिस कर रही थी।

जज के घर में की थी 65 लाख की चोरी

आरोपी ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि नोटबंदी लागू होने से ठीक पहले उसने दिल्ली में रहने वाले एक जज के घर में 65 लाख की चोरी की थी। आरोपी ने बताया कि इसके अलावा उसने गोवा में गवर्नर हाउस के पास रहने वाले एक कारोबारी के घर में भी लाखों रुपये की नकदी और जेवर चोरी किए थे।

पिछले माह हुई थी गिरफ्तारी

गाजियाबाद के कवि नगर में बीते माह कारोबारी कपिल गर्ग के घर में हुई डेढ़ करोड़ रुपये की चोरी के मामले में गिरफ्तारी हुई थी, जिसमें उसके काले कारनामे का खुलासा हुआ था। आरोपी ने बताया कि वह राजनीति में नहीं आना चाहता था, लेकिन गांव के लोगों ने ही उसे चुनाव में उतरने की सलाह दी और उसकी अनुपस्थिति में ग्रामीण ही चुनाव का सारा काम देख रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News