उत्प्रवासी मजदूर फाउंडेशन के कार्यक्रम आयोजित, नितिन नवीन ने कहा- प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार दृढ़ संकल्पित, सुमित कुमार ने कहा- मजदूर को मेहनतकश व्यक्ति कहा जाए

उत्प्रवासी मजदूर फाउंडेशन के कार्यक्रम आयोजित, नितिन नवीन ने कहा- प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार दृढ़ संकल्पित, सुमित कुमार ने कहा- मजदूर को मेहनतकश व्यक्ति कहा जाए

पटना. उत्प्रवासी मजदूर फाउंडेशन के उद्धघाटन एवं प्रोजेक्ट लॉन्चिंग कार्यक्रम आयोजित हुआ. इसमें पथ परिवहन निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कार्यक्रम हिस्सा लिए. इसमें उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूर पर होने वाले कार्यक्रम में प्लान ऑफ एक्शन होनी चाहिए. सरकार और मजदूरों के बीच सेतु के रूप में उत्प्रवासी मजदूर फाउंडेशन को काम करना चाहिए. आपलोग इस संस्था को एक फोरम के रूप में  विकसित कीजिए. प्रवासी मजदूरों के लिए हमारी सरकार दृढसंकल्पित हैं. नितिन नवीन उत्प्रवासी मजदूर फाउंडेशन के उद्धघाटन एवं प्रोजेक्ट लॉन्चिंग कार्यक्रम में रविवार को बोल रहे थे. स्थानीय एक होटल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पूर्व पर उन्हें आमंत्रित किया गया था.

कार्यक्रम को विशेष अतिथि के रूप में विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह ने भी संबोधित किया. उन्होंने कहा कि उत्प्रवासी मजदूरों फाउंडेशन के तहत जो कार्यक्रम किया जा रहा है, वह मजदूरों के भले के लिए हैं. मेरा मानना है कि मजदूर को मजदूर नहीं बल्कि मेहनतकश व्यक्ति कहा जाए. मजदूरी और मेहनत के बल पर ही मैं मंत्री पद तक पहुंचा हूं. मैं किसान हूं. मुझे मजदूरों का दर्द मालूम है. मजदूरों के साथ पीड़ा होती है कि उन्हें उचित मजदूरी नहीं मिल पाती.

मेरा अनुरोध है कि यह संस्थान मजदूरों का बीमा करवाए. श्रम विभाग में मजदूरों का बीमा करने की योजना है. उन्हें एक लाख रुपए तक का बीमा मिलता है. इसमें जो भी सहयोग चाहिए हम करेंगे. हमारा इलाका जमुई भी काफी पिछड़ा है. उस क्षेत्र में भी यह संगठन काम करे. उसमें भी मैं सहयोग करूंगा. इसके पहले डॉ. अली इमाम कार्यक्रम को संबोधित किए. उन्होंने संस्था के उद्देश्य के बारे में बताया. कहा कि यह संस्था मजदूरों के लिए बनाई गई है. कोविड काल में मजदूरों की दुर्दशा और दयनीयता देखी गई. वो बिलख रहे थे. रो रहे थे. उन्हीं की स्थिति को देखकर पिछले साल इस संस्था की आधारशिला रखी गई है.

उन्होंने कहा कि यह संस्था जिला, प्रखंड और पंचायत स्तर तक जाएगी और मजदूरों से जुड़ा अध्ययन करेगी. प्रवासी मजदूरों को यह संस्था वर्गीकृत करेगी. उन्हें कई हिस्सों में बांटेगी. उनका स्किल भी वर्गीकृत किया जाएगा. फिर सरकार के साथ मिलकर सरकार की मजदूरों को लेकर जो उद्देश्य और तमन्ना है, उस पर काम किया जाएगा. कार्यक्रम के अंत में उत्प्रवासी मजदूर फाउंडेशन की निदेशक तायबा सायमा ने धन्यवाद ज्ञापन किया. कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रवासी मजदूर फाउंडेशन के निदेशक जुनैद नफीस ने किया. कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन के साथ किया गया.

Find Us on Facebook

Trending News