पटना में कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों के कर्मियों के उन्मुखीकरण कार्यक्रम का हुआ आयोजन, दिए गए कई निर्देश

पटना में कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों के कर्मियों के उन्मुखीकरण कार्यक्रम का हुआ आयोजन, दिए गए कई निर्देश

PATNA : आज श्री कृष्ण स्मारक भवन गांधी मैदान पटना में बिहार की सभी 634 कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों के संचालक, वार्डन, जिला जेंडर समन्वयक, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी तथा जिला शिक्षा पदाधिकारियों का एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता दीपक कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव, शिक्षा विभाग द्वारा की गई। कार्यक्रम की शुरुआत अभियान गीत ले मशाले चल पड़े हैं लोग मेरे गांव के से की गई। सर्वप्रथम राज्य परियोजना निदेशक असंगबा चुबा आओ के द्वारा बिहार के सभी जिलों से आए हुए कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की संचालकों वार्डन एवं समस्त पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए केजीबीवी के उद्देश्यों का विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला गया। 

इस क्रम में यह भी बताया गया कि इस विद्यालय में समाज के कमजोर वर्ग यथा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग अत्यंत पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक समुदाय एवं बीपीएल परिवारों की छात्राओं को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराया जाता है। ताकि इन्हें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराया जा सके। सरकार की इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम की सफलता को सुनिश्चित कराने की संपूर्ण जवाबदेही जिला शिक्षा पदाधिकारी से लेकर वार्डेन तक की है। तत्पश्चात रविशंकर सिंह राज्य परियोजना निदेशक कार्यक्रम के द्वारा कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की पृष्ठभूमि, उद्देश्य, विद्यालयों की वर्तमान स्थिति यथा बालिकाओं का नामांकन खराब गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा आदि पर एक प्रस्तुतीकरण किया गया। साथ ही कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के संचालन से संबंधित चुनौतियां एवं भावी रणनीति पर विस्तार से चर्चा की गई। उसके उपरांत कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की दो-दो वार्डन एवं संचालकों के द्वारा अपने अनुभव को साझा किया गया। इस कार्यक्रम में राज्य स्तर के पदाधिकारियों द्वारा किए गए औचक निरीक्षण के दौरान कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के संबंध में अपने अनुभव को साझा किया गया एवं विद्यालय के संचालन में पाई गई खामियों को रेखांकित किया।

अपर मुख्य सचिव शिक्षा विभाग के द्वारा अपने अध्यक्षीय संबोधन में कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में व्याप्त खामियों को दूर करने हेतु उन्मुखीकरण कार्यक्रम में उपस्थित जिला शिक्षा पदाधिकारी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी जिला संचालन एवं निर्धारित समय अवधि के अंदर तीन प्रकार के लक्ष्य दिए गए। 23 जुलाई 2022 की तिथि से 2 दिनों के अंदर सभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में सभी प्रकार के पंजियों का संधारण, वित्तीय अनुशासन का अनुपालन, निर्धारित मेन्यू के अनुसार बालिकाओं को भोजन नाश्ता, समय सारणी के अनुसार 55 तथा शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने हेतु अविलंब कार्रवाई की जाए। तत्पश्चात 1 सप्ताह के अंदर प्रावधान के अनुसार बालिकाओं को देश सभी सुविधाएं पाठ्य पुस्तक एवं खेल सामग्रियों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए या कराई जाए। तीसरा लक्ष्य दिया गया कि अगस्त माह के अंत तक सभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में निर्धारित क्षमता के अनुसार शत-प्रतिशत नामांकन एवं उपस्थिति, सभी नामांकित बच्चों कोरोना का दो दो डोज देते हुए हेल्थ चेकअप करवाना तथा कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में शिक्षा एवं अन्य कर्मियों के रिक्त पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया प्रारंभ करना सुनिश्चित किया जाए।

साथ ही उनके द्वारा सभी पदाधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया गया कि वंचित वर्ग की बालिकाओं के लिए कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में प्रावधान के किसी भी कार्य में कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी तथा उनके लिए दूसरी पदाधिकारियों एवं कर्मियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उपरोक्त निर्देश के अनुपालन तथा कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में संचालन व्यवस्था दुरुस्त करने के उद्देश्य से राज्य के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय का निरीक्षण जारी रहेगा तथा फौज की कार्रवाई की जाएगी। कार्यक्रम का समापन अभियान हम होंगे कामयाब एक दिन से किया गया।


Find Us on Facebook

Trending News