हमारी मांग 'अस्वीकार' नहीं, PM मोदी से मुलाकात के बाद CM नीतीश बोले- एक 'मंत्री' ने ऐसी बातें कही जिससे हो गई थी बेचैनी

हमारी मांग 'अस्वीकार' नहीं, PM मोदी से मुलाकात के बाद CM नीतीश बोले- एक 'मंत्री' ने ऐसी बातें कही जिससे हो गई थी बेचैनी

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार का प्रतिनिधि मंडल ने पीएम मोदी से मुलाकात की। दिल्ली में पीएम मोदी से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी लोगों ने पीएम मोदी को बता दिया है। जातीय जनगणना के पक्ष में जितनी भी बातें हो सकती थी वो बताई। प्रधानमंत्री ने हमारी बातों को गौर से सुना है। हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह भी कहा कि हमारी मांग को स्वीकार नहीं किया तो अस्वीकार भी नहीं किया। कांग्रेस विधायक दल के नेता अजित शर्मा ने भी कहा कि हमारी मांग को ना नहीं किया गया।  मुख्यमंत्री ने साफ कहा कि एक मंत्री ने कह दिया था कि जातीय जनगणना नहीं हो सकती। इसके बाद बिहार के दलों में बेचैनी बढ़ गई थी। लिहाजा सबलोगों ने प्रधानमंत्री से मिलने का निर्णय लिया। 

हमारी मांग को पीएम ने अस्वीकार नहीं किया

पीएम मोदी ने हमारी बातों को सुना। सबलोगों ने पक्ष में एक-एक बातें रखी हैं। प्रधानमंत्री ने गौर से सारी बातों को सुना है। उन्होंने अभी इस मुद्दे को अस्वीकार नहीं किया है। हमारी मांग को पूरे ध्यान से सुना है। हमलोगों ने मांग किया कि हमारी इस मांग पर विचार किया जाये।एक-एक चीज के बारे में हमलोगों ने बात कही है। एक बार अगर जनगणना हो जायेगा तो सारी बातें साफ हो जायेगी। हमलोगों को उम्मीद है कि हमारी मांगों पर जरूर विचार करेंगे। लेकिन जो भी निर्णय लेना है वो तो प्रधानमंत्री को ही लेना है। प्रतिनिधि मंडल में तो बीजेपी के भी प्रतिनिधि भी शामिल हैं. हम प्रधानमंत्री को आभार जताते हैं कि हमलोगों को समय दिया और हमारी बात सुनी। बता दें, बिहार के सांसद व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने सदन में सरकार की तरफ से जवाब देते हुए कहा था कि जातीय जनगणना कराने का कोई प्रस्ताव नहीं है।  

तेजस्वी ने कहा-हमारी बातों को प्रधानमंत्री ने सुना

वहीं प्रतिनिधिमंडल में शामिल नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि हमलोग मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में प्रधानमंत्री से मुलाकात की है। हमारी बातों को उन्होंने गंभीरता से सुना है। अब देखिए आगे क्या होता है। तेजस्वी ने कहा कि जब जानवरों की गणना हो सकती है तो फिर जातीय जनगणना क्यों नहीं। राष्ट्रहित में जातीय जनगणना जरूरी है। 

Find Us on Facebook

Trending News