ट्रिपल तलाक कानून को लेकर ओवैसी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- गुजरात की भाभी का क्या होगा; सपा, बसपा और भाजपा समेत सभी को बताया कव्वाल पार्टी

ट्रिपल तलाक कानून को लेकर ओवैसी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- गुजरात की भाभी का क्या होगा; सपा, बसपा और भाजपा समेत सभी को बताया कव्वाल पार्टी

बाराबंकी. एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी आज बाराबंकी आये। उन्होंने यहां एक जनसभा को भी संबोधित किया। इस दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने कहा क‍ि हम केवल 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारी नहीं कर रहे हैं, हम उत्तर प्रदेश में एक मजबूत पार्टी के तौर पर उभर कर सामने आएंगे। उन्‍होंने कहा क‍ि 2014 से मॉब लिंचिंग के नाम पर केवल मुसलमानों को मारा जा रहा है। 

बता दें कि ओवैसी को युवा शाखा के जिलाध्यक्ष चौधरी फैज उर रहमान के आवास पर सिर्फ चाय-नास्ता कराने की अनुमति ली गई थी और इसमें कोविड नियमों का पालन कराने की शर्त के साथ अधिकतम पचास लोगों की मौजूदगी की अनुमति प्रशासन की ओर से दी गई थी, लेकिन ओवैसी के पहुंचने के बाद मौके पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। यहां उन्होंने एक बड़ी जनसभा को भी संबोधित किया। इस दौरान मास्क और कोविड नियमों का पालन भी होता नहीं दिखा।

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हम केवल 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारी नहीं कर रहे। हम उत्तर प्रदेश में एक मजबूत पार्टी के तौर पर उभर कर सामने आएंगे। 2014 से मॉब लिंचिंग के नाम पर केवल मुसलमानों को मारा जा रहा है। उत्तर प्रदेश में मुसलमानों पर जुल्म करने वालों को पुलिस गिरफ्तार करती है, लेकिन 24 घंटे में उन्हें जमानत दे दी जाती है। जुल्म करने वालों को यह पता है कि बीजेपी की सरकार उनके साथ है। वह उन्हें बचा लेगी।

वहीं मोदी सरकार द्वारा बनाए गए ट्रिपल तलाक कानून पर भी ओवैसी ने निशाना साधा। उन्होंने कहा कि ट्रिपल तलाक कानून लाकर मोदी सरकार ने मर्दों को और मजबूत कर दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार उन लोगों के खिलाफ कानून क्यों नहीं लाती, जो अपनी बीवियों को अपने साथ नहीं रखते। उनकी बीवियां दर-दर की ठोकरें खा रही हैं। ओवैसी ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वह बताएं कि गुजरात की भाभी का क्या होगा। ओवैसी ने सीएए कानून को लेकर भी निशाना साधा और कहा कि यह सरकार केवल भ्रम फैलाने का काम कर रही है।

ओवैसी ने कहा कि 17 मई को बाराबंकी में 100 साल पुरानी मस्जिद को गिरा दिया गया। उस समय के एसडीएम जो अब सीडीओ पद पर प्रमोट हो गए हैं। उन्होंने सैकड़ों लोगों को जेल भेज दिया, कई लोगों पर एनएसए के तहत कार्रवाई की। एसडीएम ने 100 साल पुरानी मस्जिद को बिना किसी नोटिस के के गिरवा दिया। मैं उसे पॉलिटकल डेमोलिशन कहूंगा। वह मस्जिद किसी के बाप की जागीर थी क्या, जो उसे तोड़ दिया गया। क्या उस समय सपा-बसपा ने इस कार्रवाई के खिलाफ आवाज उठाई थी। उस समय केवल मैंने इस कार्रवाई के खिलाफ आवाज बुलंद की।

ओवैसी ने कहा कि अब तक मुस्लिम केवल सेकुलरिज्म के नाम पर वोट डालते आये हैं। सपा-बसपा को वोट डालते आये हैं, लेकिन क्या ये लोग कभी मुसलमानों का नाम लेते हैं। इसलिए आप सभी मेरे साथ आएं, मैं आपकी आवाज को मजबूत करूंगा। उन्होंने कहा कि यूपी में चुनवा है, इसलिए सभी लोग मुसलमानों से मीठी-मीठी बातें करेंगे। लेकिन अब मुसलमानों के नेता बनने का समय आ गया है। अब मुसलमानों को जंजीर में बंधकर रहने की जरूरत नहीं है। मुसलमान अब खुद सामने आएं और अपनी ताकत का एहसास कराएं।

ओवैसी ने सपा, बसपा और भाजपा समेत सभी पार्टियों को कव्वाल पार्टी कहते हुए उन पर निशाना साधा। जब हिंदुओं में अलग-अलग जाति के लोग सभी पार्टियों को वोट कर सकते हैं। तो उन्हें वोट कटवा नहीं कहा जाता। फिर हमें वोट कटवा क्यों कहा जाता है। जब 11 फीसदी यादव अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बना सकते हैं, तो 19 फीसदी मुस्लिम किसी मुसलमान को मुख्यमंत्री क्यों नहीं बना सकते। उन्होंने कहा कि भारत तब मजबूत बनेगा जब मुसलमानों को उनका हक मिलेगा।

ओवैसी ने कहा कि ठाकुर कहते हैं कि बाबा योगी हमारा नेता है। ओबीसी कहता है कि मोदी हमारे नेता हैं और कुर्मी भी कहते हैं कि अनुप्रिया हमारी नेता है। ओवैसी ने सीएम योगी पर भी बाबा कहते हुए तंज कसा और कहा कि बाबा ने यूपी में बहुत विकास किया। यूपी की सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे हैं। बच्चे बुखार से मर रहे हैं। लेकिन बाबा विकास कर रहे हैं। 6770 एनकाउंटर, 140 मारे गए। 37 फीसदी मुसलमानों को गोली मार दी गई। ओवैसी ने कहा कि जब लखनऊ में विवेक तिवारी को मार दिया गया तो पुलिस वालों को सस्पेंड कर दिया गया।

Find Us on Facebook

Trending News