राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती पर निकाली गयी पदयात्रा, विचारों को जन-जन तक पहुँचाने का संकल्प

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती पर निकाली गयी पदयात्रा, विचारों को जन-जन तक पहुँचाने का संकल्प

GAYA : आज राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150 वीं जयंती है. इस मौके पर कांग्रेस पार्टी की ओर से स्थानीय गांधी मैदान स्थित गांधी भस्म कलश स्तूप से चौक स्थित गांधी प्रतिमा तक पदयात्रा निकाला गया. पदयात्रा गांधी मैदान से राय काशीनाथ मोड़, समाहरणालय, जीबी रोड होते हुए गांधी प्रतिमा चौक पहुंचकर सभा में तब्दील हो गया. 

इसे भी पढ़े : बर्बाद हुए फसलों के लिए किसानों को राहत दे सकती है बिहार सरकार, कृषि मंत्री ने दिया आश्वासन

सभा को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य प्रोफेसर विजय कुमार मिट्ठू ने कहा कि इस पदयात्रा के माध्यम से गाँधी के विचारों को जन-जन तक पहुँचाने का परयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा की आज गाँधी के विचारों को कुंद करने के लिए कुछ राजनीतिक दल के लोग गाँधी और गोडसे का तुलना कर रहे हैं.

इसे भी देखे :  मोहन से महात्मा तक की झलक के साथ मुजफ्फरपुर से आज रवाना हुई सप्तक्रांति एक्स... 

कहीं गोडसे जिंदाबाद के नारे लग रहे हैं. उन्होंने कहा की गांधीजी जैसा कोई हिन्दू नहीं था. उनके हे राम कहने पर किसी कौम को कोई आपत्ति नहीं था. लेकिन आज भगवा बिग्रेड की ओर से राम का नाम बदनाम किया जा रहा है. राम के नाम पर देश के संविधान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. सवैधानिक संस्थाओं के साथ छेड़छाड़ किया जा रहा है. ऐसी परिस्थितियों में उनके विचार आज भी प्रासंगिक हैं. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News