पैसे के लिए भाई ने अपने दो भाइयों का किया अपहरण, तीन साल के मासूम को बेचा, भेद न खुले इसके लिए एक को मार डाला

पैसे के लिए भाई ने अपने दो भाइयों का किया अपहरण, तीन साल के मासूम को बेचा, भेद न खुले इसके लिए एक को मार डाला

Vaisahli : जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जहां पैसे की लालच में एक युवक ने अपने ही दो मासूम चचेरे भाइयों की अपरहण की हत्या की साजिश रच डाली। इतना ही नहीं उसने दोनो 3 और 9 साल के मासूम भाइयों का अपहरण कर लिया। तीन साल के मासूम का तो उसने सौदा कर डाला। वहीं भेद न खुले इसके लिए 9 साल के भाई की हत्या कर डाली। इस मामले में पुलिस ने दो महिला समेत 7 लोगों को गिरफ्तार किया है।  

दरअसल जिले बिदुपुर थाना क्षेत्र के मनियारपुर से बीते 21 सितंबर को 2 सगे भाई अचानक अपने घर से गायब हो गए थे। काफी खोजबीन के बाद जब उनका पता नहीं चला। थक-हारकर परिजनों ने थाने में रपट दर्ज कराई। पुलिस जब मामले की जांच में जुटी तो वह भी अवाक रह गई। दरअसल दोनो बच्चे के अपहरण का साजिशकर्ता उसका अपना ही चचेरा भाई निकला। 

वैशाली एसपी मनीष कुमार ने इस बात का खुलासा करते हुए बताया कि बेहद साधारण परिवार के रामानंद भगत और उसकी पत्नी मेहनत मजदूरी कर अपना परिवार चलाते है। उनके 4 बच्चे थे जिनमें से बीते 21 सितंबर को अचानक 2 बच्चे गायब हो गये। काफी खोजबीन के बाद जब उनका पता नहीं चला तो बिदुपुर थाने में अपहरण का मामला दर्ज कराया। 

उन्होंने बताया कि मामला दर्ज होने के बाद जब जांच शुरु हुई तो पता चला कि इलाके के कुछ बदमाशों ने ही दोनो बच्चों का अपहरण किया था जिनमें से तीन साल के बच्चे का हाजीपुर के किसी निसंतान दंपत्ति से ढाई लाख में सौदा किया था। इसके लिए बदमाशों ने बिद्दूपुर के संजीत नाम के अपने साथी से संपर्क किया। पैसों की लालच में संजीत ने अपने ही चचेरे भाई के अपहरण और बेचने की साजिश का ताना-बाना बुन दिया। प्लान के मुताबिक 21 सितंबर को संजीत  ने बदमाशों के साथ अपने दोनों चचेरे भाइयों का अपहरण कर लिया। जिसके बाद 3 साल के मासूम विक्की को ढाई लाख में बेच दिया गया। लेकिन साथ में अपहरण किए गए 9 साल के सत्यम के साथ क्या किया जाए यह अपराधियों के समझ से बाहर था। बाद में राज खुलने के डर से अपराधियों ने सत्यम की हत्या कर दी और उसके शव को मुजफ्फरपुर के इलाके में फेंक दिया। 

एसपी ने बताया कि पुलिस ने अपहरण और हत्या के इस मामले में दो महिला सहित सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिसमें बच्चों का चचेरा भाई संजीत भी शामिल है। वहीं सत्यम के शव को मुजफ्फरपुर से बरामद  कर लिया गया है। इसके साथ ही वही बेचे गए विक्की को खरीदने वाले दंपत्ति के यहां से बरामद कर उसके मां-बाप को सौंप दिया गया है। 

वैशाली से राजकुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News