पाक को करारा झटका : UN ने कहा- जम्मू-कश्मीर पर तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की जरूरत नहीं

पाक को करारा झटका : UN ने कहा- जम्मू-कश्मीर पर तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की जरूरत नहीं

NEWS4NATION DESK : जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किये जाने पर बौखलाए पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र से भी मुंह की खानी पड़ी है। जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा हटाने के भारत के फैसले के बाद पाकिस्तान ने गुटेरेस से उचित भूमिका निभाने के लिए कहा। जिसके बाद यूएन प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस का बयान आया है कि हमने भारत और पाकिस्तान के बीच 1972 में हुए शिमला समझौते को याद किया जिसमें कश्मीर में तीसरे पक्ष की मध्यस्थता से इनकार किया गया है। 

यूएन प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने एक प्रेस-वार्ता में कहा कि महासचिव जम्मू कश्मीर में स्थिति पर गंभीरता से नजर रख रहे हैं और उन्होंने इस पर अधिकतम संयम बरतने की अपील की है। 

महासचिव ने भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय संबंधों पर 1972 में हुए उस समझौते को भी याद किया जिसे शिमला समझौते के नाम से जाना जाता है। इस समझौते में कहा गया है कि जम्मू कश्मीर की अंतिम स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के अनुसार शांतिपूर्ण तरीकों से निर्णय लिया जाएगा।

उन्होंने शिमला समझौते को याद किया जिसमें कहा गया है कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच एक द्विपक्षीय मुद्दा है और इसमें तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की जरूरत नहीं है। 

Find Us on Facebook

Trending News