बिहार में पंचायत चुनावः राज्य निर्वाचन आयोग ने 7 जिलों के DM को फिर से भेजा तल्ख पत्र, वजह जानिए...

बिहार में पंचायत चुनावः राज्य निर्वाचन आयोग ने 7 जिलों के DM को फिर से भेजा तल्ख पत्र, वजह जानिए...

PATNA: बिहार में पंचायत चुनाव कब होंगे इस पर सस्पेंस कायम है. ईवीएम पर चुनाव आयोग और राज्य निर्वाचन आयोग में पेंच फंसा है। मामला पटना हाईकोर्ट में भी है लेकिन सुनवाई टल रही है।पंचायत चुनाव को लेकर अब तक सस्पेंस कायम है। इसी बीच राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी डीएम-एसपी के साथ बैठक कर चुनाव तैयारी का जायजा लिया है। इसी बीच राज्य निर्वाचन आयोग ने बिहार के 7 जिलों के डीएम सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी को पत्र लिखा है.

राज्य निर्वाचन आयोग ने बताया गंभीर

आयोग के सचिव योगेंद्र राम ने सभी जिला पदाधिकारी को पत्र के माध्यम से प्रतिवेदन उपलब्ध नहीं कराने पर आश्चर्य जताया है। राज्य निर्वाचन आयोग अपने पत्र में कहा है कि 16 मार्च और 23 मार्च को सभी जिलों के निर्वाचन पदाधिकारी से पंचायत आम निर्वाचन 2021 कम्युनिकेशंस शैडो के संबंध में रिपोर्ट मांगी गई थी। कम्युनिकेशन शैडो जोन वाले मतदान केंद्रों की पहचान करते हुए इसकी पूरी जानकारी 25 मार्च तक उपलब्ध कराने के लिए कहा गया था. आयोग ने कहा था कि रिपोर्ट मिलने पर मतदान केंद्रों पर कम्युनिकेशन के लिए विशेष व्यवस्था की जा सकेगी. लेकिन पश्चिम चंपारण, अररिया, बांका एवं गया से प्रतिवेदन अब तक नहीं मिला है. वहीं 3 जिलों से अधूरी रिपोर्ट भेजी गई है। निर्वाचन आयोग ने इसे अत्यंत खेद का विषय माना है .

10 अप्रैल तक रिपोर्ट तलब

कैमूर से प्राप्त प्रतिवेदन में पंचायत निर्वाचन हेतु निर्धारित नया मतदान केंद्र संख्या वाले कॉलम में मतदान केंद्र अंकित है. वहीं कई अन्य त्रुटि पाई गई है। वहीं जमुई से भेजी गई रिपोर्ट भी त्रुटिपूर्ण है. राज्य निर्वाचन आयोग ने 10 अप्रैल 2021 तक हर हाल में पूरी रिपोर्ट उपलब्ध कराने को कहा है.

Find Us on Facebook

Trending News