नामांकन के बाद बोले पप्पू यादव, मधेपुरा की जनता अपने बेटे को देगी आशीर्वाद, बाहरी नेता को सिखाएगी सबक

नामांकन के बाद बोले पप्पू यादव, मधेपुरा की जनता अपने बेटे को देगी आशीर्वाद, बाहरी नेता को सिखाएगी सबक

PATNA: मधेपुरा सांसद और जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने गुरुवार को मधेपुरा लोकसभा सीट से पर्चा भर दिया है। इस बार वे अपनी पार्टी के सिंबल हॉकी स्टिक और बॉल से चुनाव लड़ेंगे। वहीं नामांकन से पूर्व पप्‍पू यादव ने अपनी मां से आशीर्वाद लिया। पत्‍नी व कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन ने भी विजय तिलक कर चुनाव में बहुमत से जीत दर्ज करने की कामना की।

नामांकन के बाद मधेपुरा में जनसभा को संबोधित करते हुए सांसद पप्‍पू यादव ने कहा कि मैं कोसी का बेटा हूं। आशीर्वाद लेने आया हूं। पांच साल मैंने सेवा किया है। इस दौरान एक एक गलियों से 500 बार से ज्‍यादा गुजरा हूं। सदन से सड़क तक मधेपुरा और सहरसा की जनता के लिए संघर्ष किया है। इसलिए मुझे उम्‍मीद है कि यहां की जनता अपने बेटे को आशीर्वाद देगी और बाहर से आये लोगों को बाहर ही रखने का काम करेगी। मधेपुरा – सहरसा की जनता इतिहास लिखेगी। बाहर से आये नेताओं को जनता सबक सिखयेगी, क्‍योंकि ये नेता उपर से जाति – धर्म के समीकरण से चुनाव लड़ने आये हैं। लेकिन   इस धरती की महान जनता इनका फुल एंड फाइनल कर देगी।  

महागठबंधन के सवाल पर पप्‍पू यादव ने कहा कि महागठबंधन से समर्थन नहीं मिलने का मुझे कोई मलाल नहीं है। आज देश संकट के दौर से गुजर रहा है। संवैधानिक संस्‍थाओं को ध्‍वस्‍त करने की कोशिश की जा रही है। परिस्थितिवश हम जिस ताकत को हराना चाहते हैं, उसके लिए महागठबंधन से एकता की उम्‍मीद की थी। ऐसा सिर्फ मधेपुरा में ही नहीं, बल्कि देश विरोधी ताकतों के खिलाफ विभिन्‍न दल लड़ाई लड़ रहे हैं। ऐसे दलों को जनता का समर्थन है। लेकिन यहां व्‍यक्तिगत अहंकार ने महागठबंधन को कमजोर करने का काम किया है। जनता ऐसे लोगों को सबक सिखायेगी  

Find Us on Facebook

Trending News